गुर्जर आंदोलन के चलते राज्य सरकार सख्त, सवाई माधोपुर में कल तक इंटरनेट बंद

  • Updated on 2/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  राजस्थान में गुर्जर आंदोलन तेजी पकड़ रहा है। आज पांचवें दिन भी ये आंदोलन जारी रहा। गुर्जर नेता पिछले पांच दिनों से आरक्षण को लेकर विरोध कर रहे हैं। आंदोलन के चलते ट्रेनों के कई रास्ते बंद कर दिए गए हैं। बता दें कि  गुर्जर नेता दिल्ली-मुबंई रेल मार्ग पर पटरियों पर बैठे हैं और राज्य के कई सड़क मार्ग भी बंद कर दिए गए हैं। 

मशहूर कवि अशोक चक्रधर के घर हुई चोरी, लाखों कैश और जूलरी ले फरार हुए बदमाश

वहीं प्रदेश सरकार ने इस आंदोलन की उग्रता को देखते हुए सवाई माधोपुर की इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। सवाई माधोपुर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ने गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला को रेलवे ट्रैक से हटने के लिए नोटिस भी जारी किया है। बता दें कि इस आंदोलन को देखते हुए 3 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और 2 के रुट में बदलाव किया गया है। 

वहीं धौलपुर में आंदोलन के चलते सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में पुलिस ने आठ लोगों को गिरफ्तार किया है और मामला दर्ज कर लिया है। बैंसला ने भी सरकार की नोटिस का जवाब देते हुए कहा कि 'सरकार को बातचीत के लिए मलारना डूंगर में रेल पटरी पर आना होगा, वहीं बात होगी आंदोलनकारी कहीं नहीं जाएंगे।'

करोलबाग के होटल में भीषण आग लगने से 17 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

उन्होंने कहा, 'बातचीत क्या करनी है? सरकार 5 प्रतिशत आरक्षण की हमारी मांग पूरी करे और हम घर चले जाएंगे।' इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मांग नहीं माने जाने पर गुर्जर लंबे आंदोलन के लिए तैयार हैं। वहीं पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एम एल लाठर ने बताया कि आंदोलन के दौरान कहीं से अप्रिय घटना का कोई समाचार नहीं है। रविवार को कुछ हुड़दंगियों ने धौलपुर में पुलिस के तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया था और हवा में गोलियां चलाईं थीं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.