Tuesday, Jul 23, 2019

10 महीने में 4 हजार नई बसों को सड़कों पर उतारेगी सरकार

  • Updated on 7/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अगले एक वर्ष में दिल्ली (Delhi) के पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public transport) में बड़ा बदलाव आने की उम्मीद है। दिल्ली सरकार ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) के निर्देश पर 4 हजार नई बसों को दिल्ली की सड़कों पर उतारने का शेड्यूल तैयार कर लिया है।

अभी दिल्ली में करीब 5,500 बसें हैं,जिसे 10 महीने में 9500 करने का दावा किया गया है। दिल्ली कैबिनेट (Delhi cabinet) ने वीरवार को डीटीसी (DTC) के लिए एक हजार लो फ्लोर वातानुकूलित बसें खरीदने को मंजूरी दे दी है।

सोनाक्षी सिन्हा के खिलाफ धारा 420, 406 के तहत धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

नई बसों को लाने के लिए सरकार ने जारी किया शेड्यूल 
इसके अलावा 650 कलस्टर स्कीम में आने वाली लो फ्लोर वातानुकूलित बसों के टेंडर को भी मंजूरी दी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई दिल्ली कैबिनेट की बैठक में नई बसों की खरीद को मंजूरी दी गई। कैबिनेट की बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करने के लिए 4000 नई बसों को दिल्ली की सड़कों उतारा जाएगा।

भारतीय मीडिया को पालतू बोलकर फंसे पी चिदंबरम, भाजपा ने कसा तंज...

09 साल बाद डीटीसी के लिए एक हजार नई एसी बसें खरीदने को मिली मंजूरी
डीटीसी के बेड़े में जनवरी से मई के बीच 1000 लो फ्लोर बसें और जुड़ जाएंगी। करीब 9 साल बाद डीटीसी के लिए बसों की खरीद की जा रही है। उन्होंने कहा कि जुलाई से दिसंबर के बीच दिल्ली की सड़कों पर क्लस्टर की 1000 स्टैंडर्ड फ्लोर बसें आ जाएंगी। इसके अलावा क्लस्टर की 1000 लो फ्लोर बसें भी दिसंबर से अप्रैल के बीच दिल्ली की सड़कों पर दौडऩे लगेंगी। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन और पर्यावरण की स्थिति में सुधार के लिए सड़कों पर मई-जून तक 9500 बसें मौजूद रहेंगी। अभी दिल्ली में डीटीसी और क्लस्टर की मिलाकर 5500 बसें हैं। लेकिन मई तक इस बेड़े में 4000 बसों का और इजाफा हो जाएगा।

भारत के कई राज्यों में बारिश का कहर, पश्चिम बंगाल में बाढ़ जैसे हालात

राजघाट कोल प्लांट को बंद कर बनाया जाएगा सोलर पार्क
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण में सुधार के लिए कैबिनेट ने एक और निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राजघाट कोल प्लांट को अब आधिकारिक तौर पर बंद कर दिया जाएगा। हालांकि प्रदूषण के कारण 2015 से ही यहां प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था। अब कैबिनेट ने इसे आधिकारिक तौर पर बंद करने का फैसला लिया है। राजघाट कोल प्लांट की जगह 45 एकड़ में एक सोलर पार्क बनाया जाएगा। सरकार सोलर एनर्जी की दिशा में पहले से ही काफी काम कर रही है। राजघाट कोल प्लांट की जगह बनने वाले सोलर पार्क में करीब 5000 किलोवाट सोलर एनर्जी का उत्पादन होगा। 

अप्रैल तक एक हजार इलेक्ट्रिक बसें आ जाएंगी 
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार 1000 इलेक्ट्रिक बसों को लाने पर भी तेजी से काम कर रही है। इन 1000 इलेक्ट्रिक बसों का टेंडर 2 अगस्त को खुल जाएगा। जनवरी से अप्रैल तक ये सारी बसें दिल्ली की सड़कों पर आ जाएंगी। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि क्लस्टर में भी 1000 लो फ्लोर बसों को खरीदने का फैसला लिया गया था। 650 बसों के टेंडर को मंजूरी दी गई है। इन बसों के लिए 15 दिन में वर्क एवार्ड हो जाएगा। ये बसें दिसम्बर से अप्रैल के बीच आ जाएंगी। दिसम्बर में 165 बसें आएंगी और अप्रैल तक सभी 650 बसें दिल्ली की सड़कों पर होंगी। इसके अलावा बाकी 350 बसों का टेंडर 19 जुलाई को खुल जाएगा। इस तरह इन सभी 1000 बसों को दिल्ली की सड़कों पर लाने का काम अप्रैल तक पूरा हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.