Tuesday, Aug 04, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 4

Last Updated: Tue Aug 04 2020 03:29 PM

corona virus

Total Cases

1,861,808

Recovered

1,233,582

Deaths

39,044

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA450,196
  • TAMIL NADU263,222
  • ANDHRA PRADESH166,586
  • KARNATAKA139,571
  • NEW DELHI138,482
  • UTTAR PRADESH100,310
  • WEST BENGAL78,232
  • TELANGANA68,946
  • GUJARAT64,684
  • BIHAR59,567
  • RAJASTHAN46,106
  • ASSAM45,276
  • ODISHA37,681
  • HARYANA37,173
  • MADHYA PRADESH34,285
  • KERALA26,873
  • JAMMU & KASHMIR22,006
  • PUNJAB18,527
  • JHARKHAND13,500
  • CHHATTISGARH9,820
  • UTTARAKHAND7,800
  • GOA6,816
  • TRIPURA5,520
  • PUDUCHERRY3,982
  • MANIPUR2,920
  • HIMACHAL PRADESH2,818
  • NAGALAND2,129
  • ARUNACHAL PRADESH1,758
  • LADAKH1,485
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,284
  • CHANDIGARH1,160
  • MEGHALAYA902
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS830
  • DAMAN AND DIU694
  • SIKKIM688
  • MIZORAM502
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
govind-singh-dotasra-profile-sachin-pilot-ashok-gehlot-prsgnt

कौन हैं राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट की जगह लेने वाले गोविंद सिंह डोटासरा

  • Updated on 7/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजस्थान में मची सियासी हलचल में अब सचिन पायलट का पत्ता कांग्रेस से साफ हो चुका है। कांग्रेस में अब सचिन की जगह अशोक गहलोत सरकार के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को पार्टी की कमान सौंपी जा रही है।

डोटासरा गहलोत के करीबी नेताओं में से एक हैं और ये राजस्थान के सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ विधानसभा से लगातार तीसरी बार विधायक हैं। डोटासरा का जन्म एक अक्टूबर 1964 को लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी गांव में हुआ था। डोटासरा ने बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है।

हुल-प्रियंका ने संभाली राजस्थान सरकार और पार्टी बचाने की कमान

जाट समुदाय से आने वाले गोविंद सिंह डोटासरा को राजस्थान की सियासत में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दरअसल, बीजेपी का परंपरागत वोटर जात समुदाय को गोविंद सिंह डोटासरा सचिन की जगह लुभाने का काम करेंगे।

राजनैतिक सफर
डोटासरा ने छात्र राजनीति में कफो सक्रिय रहे हैं और इसलिए उन्होंने युवा कांग्रेस में सक्रिय होकर कार्य किया था। डोटासरा अपनी युवा कांग्रेस में विभिन्न पदों पर रहे। उन्होंने 2005 में कांग्रेस के टिकट पर लक्ष्मणगढ़ जिले पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ा और जीते। इसके बाद लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के प्रधान चुने गए।

डोटासरा लगातार 7 सालों तक सीकर के कांग्रेस जिला अध्यक्ष रहे हैं। इसलिए उन्हें संगठन की बेहतर समझ हैं। लक्ष्मणगढ़ विधानसभा सीट से वो लगातार 3 बार विधायक रहे हैं। इसके बाद से ही डोटासरा ने कभी पीछे पलट कर नहीं देखा और आगे बढ़ते गए। डोटासरा के राजनीतिक जीवन में उनके राजनीतिक गुरु चौधरी नारायण सिंह का भी बड़ा योगदान रहा है।

कांग्रेस विधायक रिसॉर्ट में पहुंचाए गए, पायलट के संपर्क में कांग्रेस आलाकमान

पहली बार विधानसभा का टिकट
डोटासरा को पहली बार विधानसभा का टिकट 2008 में मिला। इस चुनाव में उन्हें जीत मात्र 34 वोट से मिली थी। इसके बाद 2013 में उन्होंने बीजेपी के सुभाष महारिया को हराया था जबकि इस चुनाव में कांग्रेस के केवल 20 विधायक ही जीते थे।

डोटासरा ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी में सचिव की जिम्मेदारी निभाई और 2018 के विधानसभा चुनाव में पार्टी के मीडिया प्रभारी भी रहे थे और 2018 के चुनाव में फिर जीते। इसी के बाद डोटासरा को गहलोत ने अपने कैबिनेट में जगह दी और शिक्षा मंत्री बनाया और अब बढ़े विश्वास के कारण उन्हें पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा रहा है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.