Friday, Aug 19, 2022
-->
gst officials arrested the issuer of fake bills worth rs 4521 crore rkdsnt

GST अधिकारियों ने 4,521 करोड़ रुपये के फर्जी बिल जारी करने वाले को किया गिरफ्तार

  • Updated on 1/14/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जीएसटी अधिकारियों ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का फायदा लेने के लिए 4,521 करोड़ रुपये के फर्जी बिल जारी करने और ‘सिडिकेट’ संचालित करने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। एक आधिकारिक बयान में शुक्रवार को यह जानकारी दी गई। 

व्यापारियों के संगठन ने अमेजन के सौदे पर रोक को लेकर दायर की याचिका 

 

बयान में कहा गया कि आंकड़ों की जांच से पता चला कि ये सिंडिकेट 636 कंपनी चलाता है। सिंडिकेट के सरगना ने स्वीकार किया है कि इन फर्मों ने केवल बिल जारी किए हैं और उनके बदले किसी भी सामान की आपूर्ति नहीं की गई। बयान में आगे कहा गया, ‘‘उन्होंने लगभग 4,521 करोड़ रुपये के कर योग्य वाले बिल जारी किए हैं, जिसमें लगभग 741 करोड़ रुपये का आईटीसी मिलना है।’’ 

बुल्ली बाई ऐप : आरोपी श्वेता और मयंक को न्यायिक हिरासत में भेजा गया

जांच के दौरान इन कंपनियों के आईटीसी बहीखाते में उपलब्ध इनपुट टैक्स क्रेडिट से 4.52 करोड़ रुपये का जीएसटी जमा किया गया। इसके अलावा, अब तक इन फर्मों के विभिन्न बैंक खातों में पड़े लगभग सात करोड़ रुपये जब्त किए गए हैं। इस गिरोह के सरगना को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।

‘देश का मेंटॉर’ कार्यक्रम को लेकर सिसोदिया ने BJP पर बोला हमला, केजरीवाल भी गर्म

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.