Monday, Mar 30, 2020
gudi padwa 2020 gudi padwa importance gudi padwa auspicious muhurat gudi padwa

जानें Gudi Padwa से जुड़ी ये खास बातें, तिथि और शुभ मुहूर्त

  • Updated on 3/18/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। साल के शुरूआत से ही हिंदू धर्म में पर्वों का सिलसिला पूके साल चलता रहता है। इन सभी संस्कृतिक पर्वों का शास्त्रों में एक अलग महत्व होता है, और हर पर्व की कथा किसी देवी-देवता से जुड़ी हुई है। ऐसे ही पर्वों में एक है गुड़ी पड़वा, जो कि महाराष्ट्र, गोवा समेत देश के दक्षिण राज्यों में मनाया जाता है। इस साल गुड़ी पड़वा (Gudi Padwa2020) 25 मार्च को है। बता दें कि गुड़ी का अर्थ विजय होता है। 

माता वैष्णो देवी के भक्तों के लिए बुरी खबर, जानें क्या है पूरा मामला

हर साल गुड़ी पड़वा चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाया जाता है। माना जाता है कि इस दिन विश्व पिता ब्रह्मा जी ने सृष्टि का निर्माण किया था। शास्त्रों के अनुसार गुड़ी पड़वा के दिन श्रीराम ने बाली के अत्याचारों से दक्षिण भारत की प्रजा को मुक्त करवाया था। यहीं कारण है कि महाराष्ट्र और दक्षिण भारत में इस दिन विजय के दिन के रूप में मनाया जाता है। इसके अलावा भी कई कथाएं प्रचलित हैं।

गुड़ी पड़वा से जुड़ी महत्पूर्ण जानकारी

  • गुड़ी पड़वा चैत्र मास के पहले दिन हिन्दु नव वर्ष के आरम्भ पर मनाया जाता है। इसे सम्वत्सर पड़वो, युगाड़ी, चेती चांद, और नवरेह नाम से भी जाना जाता है।
  • इस दिन सूर्य की दिशा के अनुसार हिन्दुओं में वसंत ऋतु का शुरू होना माना जाता है और मान्यता है कि इस दिन भगवान ब्रह्मा ने सृष्टि की संरचना की थी।
  • भारत देश में ज्यादातर क्षेत्रों में खेती होती है। गुड़ी पड़वा भी फसल कटाई के लिए महत्वपूर्ण है। इसी दिन से एक नया वर्ष शुरू होने की मानयता है।

  • मणिपुर में लोग इसे मनाने के लिए तरह-तरह के पकवान बनाते हैं और शाम में आस-पास के पहाड़ों पर चढ़ते हैं।
  • महाराष्ट्र के योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज ने अपनी जीत के बाद गुड़ी पड़वा मना कर यह परंपरा शुरू की थी और तब से आज तक हर मराठी के घर में यह दिन नए साल की तरह मनाया जाता है। 
  • मराठी खाने में इस दिन श्रीखण्ड, पुरी और पूरन पोली बनायी जाती है। कोनकणी लोग शकरकन्द, नारियल के दूध, गुड़ और चावल की काननगची खीर बनाते हैं।

Chaitra Navratri 2020 इस बार होगा बड़ा खास, बन रहे हैं बेहतरीन ग्रह योग

शुभ मुहूर्त और तिथि
गुड़ी पड़वा: 25 मार्च 2020, बुधवार
गुड़ी पड़वा आरंभ: 24 मार्च 2 बजकर 57 मिनट से
गुड़ी पड़वा: 25 मार्च 5 बजकर 26 मिनट पर।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.