Friday, Sep 30, 2022
-->
gujarat-two-former-congress-leaders-join-bjp-before-assembly-elections

गुजरात : कांग्रेस के दो पूर्व नेता विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल

  • Updated on 8/17/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस से इस्तीफा देने के करीब दो सप्ताह बाद गुजरात के पूर्व मंत्री नरेश रावल और राज्यसभा के पूर्व सदस्य राजू परमार बुधवार को यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए। दोनों नेता दशकों तक कांग्रेस के साथ रहे हैं। वे कुछ महीनों बाद होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए।      भाजपा की गुजरात इकाई के अध्यक्ष सी आर पाटिल ने उन्हें भगवा अंगवस्त्र और टोपियां देकर पार्टी में उनका स्वागत किया। बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल हो गए।      इस मौके पर रावल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की सराहना की। उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना भी की।   

बिलकिस बानो मामले के दोषियों को माफी छूट, गुजरात सरकार ने दी सफाई

  परमार 1988 से 2006 के बीच तीन बार गुजरात से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। दलित समुदाय के प्रतिष्ठित नेता परमार अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिए राष्ट्रीय समिति के सदस्य भी रहे। रावल मेहसाणा में वीजापुर विधानसभा सीट से तीन बार विधायक रह चुके हैं। वह गुजरात में कांग्रेस की सरकार के दौरान गृह और उद्योग मंत्री भी रह चुके हैं। उन्होंने 1985, 1990 और 1998 में विधानसभा चुनाव जीता था। भाजपा के प्रदेश मुख्यालय ‘कमलम’ में पार्टी में शामिल होने के बाद रावल ने मोदी और शाह की जोड़ी को महात्मा गांधी और सरदार पटेल की जोड़ी करार दिया।

महंगाई का तड़का- अमूल और मदर डेयरी का दूध के दाम बढ़ाए

उन्होंने कहा कि जिस तरह कांग्रेस आलाकमान ने गुजरात और गुजरातियों का ‘‘अपमान’’ किया, उससे वह खुश नहीं थे।      यह पूछे जाने पर कि उन्होंने कांग्रेस क्यों छोड़ी, जिसने उन्हें इतना कुछ दिया, रावल ने कहा कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में जो कुछ भी हासिल किया है, उसके लिए उन्हें संघर्ष और कड़ी मेहनत करनी पड़ी।उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा में कोई रेवड़ी संस्कृति नहीं है। हमने कड़ी मेहनत की है, लेकिन अब हमारे लिए कांग्रेस में काम करने का कोई मौका नहीं है, जहां शीर्ष नेतृत्व खुद अवसाद में है।’’ परमार ने कहा कि मौजूदा कांग्रेस अपने पिछले स्वरूप के मुकाबले अब बिल्कुल अलग है।   

केजरीवाल का गुजरात में AAP के सत्ता में आने पर मुफ्त शिक्षा देने का वादा 

  परमार ने प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना साधा और कहा कि विपक्षी दल कांग्रेस में चर्चा के लिए कोई जगह नहीं है और उनके जैसे दिग्गजों ने खुद को दरकिनार और अपमानित महसूस किया है। उन्होंने कहा कि इन चीजों ने उन्हें भाजपा में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।      गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।  

झुनझुनवाला के निवेश वाली कंपनियों के शेयरों में मिला-जुला रुख 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.