Wednesday, Jun 29, 2022
-->
gumutra program organized amid corona virus bjp worker arrested in kolkata

कोरोना वायरस के बीच गोमूत्र सेवन कार्यक्रम आयोजित, BJP कार्यकर्ता गिरफ्तार

  • Updated on 3/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में पुलिस ने गोमूत्र सेवन कार्यक्रम आयोजित करने वाले एक भाजपा कार्यकर्ता (BJP Worker) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बुधवार को कहा कि इस कार्यकर्ता ने दावा किया था कि गोमूत्र के सेवन से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है और पहले से संक्रमित लोग भी इससे ठीक हो जाएंगे, हालांकि गोमूत्र के सेवन के बाद एक नागरिक स्वयंसेवी बीमार पड़ गया था। पुलिस ने कहा कि पीड़ित की शिकायत के भाजपा कार्यकर्ता को मंगलवार देर रात गिरफ्तार किया गया था।।

भारतीय सेना में Coronavirus की दस्तक, CAPF की छुट्टियां रद्द

गोमूत्र के सेवन के बाद एक नागरिक बीमार
पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, उत्तरी कोलकाता के जोरासाखो इलाके के स्थानीय पार्टी कार्यकर्ता 40 वर्षीय नारायण चटर्जी ने सोमवार को एक गोशाला में गौ पूजा कार्यक्रम का आयोजन किया था और गोमूत्र वितरित किया था। उसने दूसरों को गोमूत्र देते हुए इसके 'चमत्कारिक' गुणों का जिक्र किया था। गोशाला के पास तैनात एक नागरिक स्वयंसेवी ने भी गोमूत्र का सेवन किया और मंगलवार को बीमार पड़ गया, जिसके बाद उसने चटर्जी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। चटर्जी की गिरफ्तारी पर प्रदेश भाजपा नेतृत्व ने राज्य सरकार की निंदा की है।

कांग्रेस को बड़ा झटका! दिग्विजय सिंह से नहीं मिलना चाहते MP के बागी विधायक

BJP कार्यकर्ता को गिरफ्तार करना अलोकतांत्रिक
प्रदेश भाजपा महासचिव सायंतन बसु ने कहा, 'चटर्जी ने गोमूत्र का वितरण किया लेकिन लोगों से उसने धोखे से उसे पीने को नहीं कहा। जब उसने इसका वितरण किया तो साफ तौर पर बताया कि यह गोमूत्र है, उसने किसी को इसे पीने के लिये बाध्य नहीं किया। यह प्रमाणित नहीं है कि यह नुकसानदेह है या नहीं।' उन्होंने कहा, 'ऐसे में पुलिस बिना किसी कारण के उन्हें गिरफ्तार कैसे कर सकती है। यह पूरी तरह अलोकतांत्रिक है।'

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश में आने वाली है आर्थिक सुनामी

TMC और कांग्रेस ने की आलोचना
भाजपा की पश्चिम बंगाल ईकाई के प्रमुख दिलीप घोष ने कहा कि गोमूत्र पीने में कोई नुकसान नहीं है और उन्हें यह स्वीकार करने में कोई पछतावा नहीं कि वह इसका सेवन करते हैं। उनकी पार्टी की सांसद लॉकेट चटर्जी हालांकि घोष की राय से इत्तेफाक नहीं रखतीं और इसे 'अवैज्ञानिक मान्यता' करार देते हुए बंद करने की हिमायत कीं। कोरोना वायरस (Coronavirus) के उपचार के तौर पर गोमूत्र वितरण की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (TMC) और विपक्षी कांग्रेस (Congress) ने तीखी आलोचना की थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.