Friday, Jan 21, 2022
-->
hannan mollah rejects rakesh tikait announcement on farmers parade on 26 january pragnt

26 जनवरी को किसान परेड पर राकेश टिकैत की घोषणा को हन्नान मोल्ला ने किया खारिज, बताया निजी राय

  • Updated on 1/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार (Central Government) के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों का आंदोलन 51वें दिन भी जारी है। इस बीच सरकार और किसान संगठनों के बीच आज 9वें दौर की बैठक होने वाली है। इस बैठक से पहले अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह (Hannah Mollah) ने कहा कि इस वार्ता से हमें कोई उम्मीद नहीं है, क्योंकि सरकार को कोर्ट से सहायता प्राप्त करने का अवसर मिला है।

किसान आंदोलन: अन्ना हजारे ने खत लिखकर पीएम मोदी को दी भूख हड़ताल की चेतावनी

बैठक से नहीं कोई उम्मीद
अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने न्यूज एजेंसी से बातचीत के दौरान कहा, 'हम बहुत उम्मीद नहीं करते हैं, सरकार के साथ अंतिम दौर की वार्ता विफल रही और अब उन्हें अदालत से सहायता प्राप्त करने का अवसर मिला है। मुझे लगता है कि सरकार चर्चाओं को आगे बढ़ाने वाली नहीं है। तीन कृषि कानूनों पर और सुधार का कोई मौका नहीं है।'

किसानों के हक में आज दिल्ली की सड़कों पर उतरेंगे राहुल गांधी

परेड को लेकर 18 जनवरी को करेंगे चर्चा
भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के 26 जनवरी को परेड वाले बयान पर हन्नान मोल्लाह ने कहा, 'इसके बारे में मैं कुछ कह नहीं सकता यह उनकी व्यक्तिगत राय हो सकती है। हमारा तरीका क्या होगा, कहां तक जाएंगे, इसका रूट क्या होगा यह हम 18 जनवरी को विस्तार से चर्चा करके तय करेंगे।'

PMC Bank Case: 'संजय राउत की पत्नी ने लौटाए लोन के पैसे', BJP ने कहा- हिसाब भी देना पड़ेगा

26 जनवरी को किसानों की परेड- राकेश टिकैत
राकेश टिकैत ने कहा, 'ये पता चला है कि वे (सरकार) राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक परेड निकालेंगे। उन्होंने अपनी यात्रा छोटी कर दी है। हम लाल किले से निकालेंगे इंडिया गेट तक, दोनों का मेल मिलाप वहीं होगा। किसान देश का सिर ऊंचा करेंगे। यह दुनिया की सबसे ऐतिहासिक परेड होगी। यहां एक तरफ से किसान चलेगा, एक तरफ से किसान चलेगा।'

मायावती का बड़ा ऐलान, UP- उत्तराखण्ड में लड़ेगे अकेले चुनाव, सभी सीटों पर उतारेंगे उम्मीदवार

इस बार होगी दुनिया की सबसे ऐतिहासिक परेड- BKU
टिकैत ने कहा, '26 जनवरी को किसान देश का सिर ऊंचा करेंगे। दुनिया की सबसे ऐतिहासिक परेड होगी। एक तरफ से जवान चलेगा और एक तरफ से किसान चलेगा। इंडिया गेट पर हमारे शहीदों की अमर ज्योति पर दोनों का मेल मिलाप होगा।' उन्होंने कहा, 'बातचीत के लिए हम तैयार हैं। सरकार कृषि कानूनों को वापस ले, इसी संबंध में शुक्रवार को मुलाकात होगी।'

26 जनवरी को किसानों की परेड पर राकेश टिकैत ने कहा- होगा ऐतिहासिक लम्हा

कृषि मंत्री को सकारात्मक वार्ता की उम्मीद
गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसान संगठनों और सरकार के बीच नौवें दौर की वार्ता तय कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को होगी और केंद्र को उम्मीद है कि चर्चा सकारात्मक होगी। सरकार खुले मन से किसान नेताओं के साथ बातचीत करने को तैयार है। 

12 बजे  से शुरू होगी बैठक
सुप्रीम कोर्ट द्वारा गतिरोध सुलझाने के लिए चार सदस्यीय कमेटी नियुक्त किए जाने और फिर एक सदस्य के इससे अलग हो जाने के कारण नौवें दौर की वार्ता को लेकर भ्रम की स्थिति को दूर करते हुए तोमर ने कहा कि सरकार और किसान प्रतिनिधियों के बीच 15 जनवरी को दिन में 12 बजे से बैठक होगी। 

किसान और सरकार के बीच आज 9वें दौर की बातचीत, जानें संगठनों की उम्मीद

SC की कमेटी के सामने पेश नहीं होना चाहते किसान
वहीं  दूसरी ओर किसान संगठनों ने कहा है कि वे सरकार के साथ वार्ता करने को तैयार हैं। लेकिन, वे सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त कमेटी के समक्ष पेश नहीं होना चाहते हैं। किसान संगठनों ने समिति के सदस्यों को लेकर आशंका जाहिर करते हुए कहा कि इसके सदस्य पूर्व में तीनों कानूनों की पैरवी कर चुके हैं।

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.