Tuesday, May 26, 2020

Live Updates: 63rd day of lockdown

Last Updated: Tue May 26 2020 10:47 AM

corona virus

Total Cases

145,354

Recovered

60,706

Deaths

4,174

  • INDIA145,354
  • MAHARASTRA52,667
  • TAMIL NADU17,082
  • GUJARAT14,468
  • NEW DELHI14,053
  • RAJASTHAN7,173
  • MADHYA PRADESH6,859
  • UTTAR PRADESH6,268
  • WEST BENGAL3,816
  • ANDHRA PRADESH2,886
  • BIHAR2,737
  • KARNATAKA2,182
  • PUNJAB2,081
  • TELANGANA1,854
  • JAMMU & KASHMIR1,621
  • ODISHA1,438
  • HARYANA1,213
  • KERALA897
  • ASSAM549
  • JHARKHAND370
  • UTTARAKHAND317
  • CHHATTISGARH292
  • CHANDIGARH262
  • HIMACHAL PRADESH203
  • TRIPURA194
  • GOA67
  • PUDUCHERRY41
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MANIPUR32
  • MEGHALAYA14
  • ARUNACHAL PRADESH2
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • NAGALAND1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
happy birthday narendra modi special story

B'day Special: जानें, काम को लेकर ढृढ़ निश्चयी रहने वाले PM मोदी की खास उपलब्धियां

  • Updated on 9/17/2019

नई दिल्ली/प्रियंका अग्रवाल। अपने हर काम को लेकर ढृढ़ निश्चयी रहने वाले नरेंद्र दामोदर दास मोदी (Narendra Damodardas Modi) का अंदाज हमेशा से ही दूसरे लोगों से अलग रहा है। और यही वजह है कि देश ही नहीं, विदेशों में भी मोदी की चर्चा होती है। बतौर प्रधानमंत्री दुनियाभर में उन्होंने अपनी बेहतरीन छाप छोड़ी है।

पीएम मोदी (PM Modi) के बयानों और भाषणों में सबसे ज्यादा जोर 'पहले राष्ट्र और बाद में पार्टी या परिवार' होता है। और इस मुद्दे पर तो विपक्षी दल भी 'सॉफ्ट कॉर्नर' अपनाते दिखते हैं। कई बार तो ऐसा हुआ है कि नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के फैसलों का विपक्षी दलों ने खुलकर समर्थन किया है। 

17 सितंबर को गुजरात (Gujarat) में जन्में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की लोकप्रियता की सबसे बड़ी वजह यह है कि वो हमेशा क्रेडिट देने से नहीं चूकते। लोगों को खुलकर प्रोत्साहित करना, उनकी फैन फॉलोइंग को बढ़ाता है।

ऑफ द रिकॉर्डः क्या बिहार में फिर से टूटेगी बीजेपी- जदयू के रिश्ते की डोर!

अपने पहले कार्यकाल की सफलता के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में राष्ट्रीय व अंतरारष्ट्रीय स्तर पर तमाम उपलब्धियां हासिल की हैं। पीएम मोदी ने कई ऐतिहासिक फैसले लेते हुए कई नए रिकॉर्ड बनाए और वर्षों पुराने तमाम इतिहास को बदलकर रख दिया। फ्रंट फुट पर खेलते हुए उन्होंने संसद के दोनों सदनों की हर बड़ी बाधा को बेहद आसानी से पार कर लिया। और आज नरेंद्र मोदी का नाम हर किसी की जुबान पर है। नरेंद्र मोदी ने देश की जनता कि लिए वो काम किया है जो एक आम नागरिक अपने लीडर से उम्मीद करता है। 

अब भारत की जेनरिक दवाइयों से होगा चीन के लोगों का इलाज

नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने घोषणा पत्र में जो बड़े वादे किए थे, उन्होंने उसे सफलतापूर्वक पूरा किया है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त से लेकर तीन तलाक कानून तक मोदी सरकार ने अपने कई पुराने वादे पूरे किए। इसके अलावा केंद्र की मोदी सरकार आतंकवाद के खिलाफ अपने जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी के मद्देनजर देश में UAPA संशोधित बिल भी बहुमत से पास कराया। इतना ही नहीं सरकार ने शिक्षा, मेडिकल, रोजगार और किसान जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी कई अहम फैसले लिए, कई नीतियों पर काम किया। आइए जानते हैं नरेंद्र मोदी ने क्या-क्या उपलब्धियां हासिल की...

ऐतिहासिक फैसला: जम्मू- कश्मीर से धारा 370 खत्म, BSP-AAP ने किया समर्थन

आर्टिकल 370 का हटना:
भारत कभी भी 5 अगस्त, 2019 को भूला नहीं पाएगा क्योंकि उस दिन कश्मीर (Kashmir) कई सालों से बंधी जंजीरों से आजाद हुआ। इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने आर्टिकल 370 (Article 370) खत्म कर जम्मू-कश्मीर (Jammu And Kashmir) में अमन-चैन की बहाली की दिशा में ऐतिहासिक कदम उठाया। जिस धारा 370 को खत्म करने को लेकर पीएम नेहरु (PM Nehru), इंदिरा गांधी (Indira Gandhi), राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) जैसे मैजरिटी की सरकार ने छूने का साहस नहीं दिखा सके। उसे मोदी-शाह (Modi-Shah) की जोड़ी ने हमेशा-हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में समेट कर रख दिया है। मोदी सरकार ने कश्मीर को भारत से अलग करने वाली धारा 370 को खत्म कर दिया गया। और साथ ही साथ जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) को विधानसभा वाला केंद्रशासित प्रदेश तो वही लद्दाख को बिना विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया है।

राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश, जानें क्या हैं वो प्रावधान जिनसे मुस्लिम महिलाओं को मिलेगा न्याय

तीन तलाक बिल का पास होना:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में ही इसकी शुरूआत कर दी थी। उन्होंने लाल किले की प्राचीर से मुस्लिम बहनों को तीन तलाक (Triple Talaq) से आजादी दिलाने की बात कही थी, लेकिन विपक्ष के विरोध की वजह से उन्हें कामयाबी हासिल नहीं हुई। अपना दूसरा कार्यकाल शुरू होते ही मोदी सरकार ने प्राथमिकता से तीन तलाक बिल को संसद के दोनों सदनों से पास करा इसे कानून बना दिया। ये बिल पास कर मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं (Muslim Women) को वो अनमोल तोहफा दिया, जिसका इंतजार वह सदियों से कर रही थी।

राज्यसभा में पास हुआ UAPA संशोधन बिल, जानें गृह मंत्री ने क्या दलीलें रखीं

आंतकवाद का सफाया, UAPA बिल बहुमत से पास
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार आतंकवाद (Terrorist) के खिलाफ अपनी पहली पारी से ही जीरो टॉलरेंस की नीति को जारी रखे हुए है। मोदी सरकार ने पिछले महीने ही गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (UAPA) को संशोधित कर काफी सख्त कर दिया है। इस कानून के मुताबिक अब सिर्फ समूह को ही नहीं बल्कि किसी अकेले व्यक्ति को भी आतंकी घोषित किया जा सकता है। इसके साथ ही उसकी संपत्ति जब्त की जा सकती है। जांच एजेंसियों को संशोधित कानून में ज्यादा शक्तियां प्रदान की गई हैं।

UAE ने किया PM मोदी को 'सर्वोच्च नागरिक सम्मान' से सम्मानित

अंतरराष्ट्रीय सम्मान
प्रधानमंत्री मोदी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किए जा रहे उनके कार्यों की वजह से कई जगहों पर सम्मानित किया जा चुका है। इसमें संयुक्त अरब अमीरात (UAE) का सर्वोच्च नागरिक सम्मान "जायद मैडल", दक्षिण कोरिया का "सियोल शांति पुरस्कार", संयुक्त राष्ट्र (UN) का "चैंपियंस ऑफ अर्थ" और कुछ दिन पहले रूस द्वारा दिया गया सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘द ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल' शामिल है। पीएम मोदी को बहरीन, सऊदी अरब, फलस्तीन, अफगानिस्तान जैसे देशों द्वारा पुरस्कार दिए गए हैं। मोदी को दोनों कार्यकाल में कुल मिलाकर नौ अंतरराष्ट्रीय सम्मान प्राप्त हो चुके हैं।  इनमें से चार पुरस्कार मुस्लिम देशों से आए हैं। इसके अलावा वे जल्द ही अमेरिका से भी  सम्मानित होंगे। देश के किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा प्राप्त किया गया ये सर्वाधिक सम्मान है।

जलसंरक्षण परियोजना की हुई शुरुआत, सीएम केजरीवाल ने केंद्रीय मंत्री को दिया धन्यवाद

जल संरक्षण पर जोर, बना नया जल शक्ति मंत्रालय
अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत करने के बाद जब पहली बार पीएम मोदी ने मन की बात की तो जल संरक्षण उनका मुख्य विषय रहा। जल संकट को देखते हुए केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक नया कदम उठाया और इसे नाम दिया गया जल संरक्षण अभियान। इस अभियान में शामिल किए गए 256 जिलों के 1592 खंड जो ज्यादा प्रभावित हैं।  इस अभियान को दो चरणों में बांटा गया, पहला 1 जुलाई, 2019 से 15 सितंबर, 2019 तक और दूसरा 1 अक्टूबर, 2019 से 30 नवंबर, 2019 तक।

 

comments

.
.
.
.
.