Thursday, Mar 21, 2019

हरिद्वार की कांग्रेस महापौर की गाड़ी हुई जब्त, ई-रिक्शा पर सवार होकर भाजपा पर राजनीतिक हमला

  • Updated on 3/14/2019

हरिद्वार/ब्यूरो। धर्मनगरी की राजनीति कांग्रेस महापौर को लेकर एक बार फिर गरमा गई है। दो दिन पहले आचार संहिता का हवाला देकर जिला निर्वाचन अधिकारी ने महापौर का सरकारी वाहन जब्त कर लिया था। हालांकि, जिला निर्वाचन अधिकारी ने आश्वासन दिया था कि उन्हें दूसरे वाहन उपलब्ध कराए जाएंगे, लेकिन घटना के तीन दिन बाद भी महापौर अनीता शर्मा को कोई वाहन नहीं मिला है। 

लिहाजा, महापौर अनीता शर्मा ने इसे राजनीतिक मुद्दा बना दिया है। वे ई-रिक्शा पर महापौर का बोर्ड लगाकर भाजपा सरकार पर तंज कसता बोर्ड लगाकर शहर में भ्रमण कर रही हैं। यह धर्मनगरी में चर्चा का विषय बना हुआ है। दो दिन पहले जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत ने महापौर को मिले सरकारी इनोवा कार को जब्त कर लिया था। 

जिला निर्वाचन अधिकारी के आश्वासन के तीन दिन बाद भी कोई वाहन नहीं दिया गया है। अब महापौर अनीता शर्मा इसे राजनीतिक मुद्दा बनाते हुए बीजेपी सरकार पर महिला की इज्जत न करने का आरोप लगाते हुए प्रहार कर रही हैं। उन्होंने अपने लिए किराये पर ई-रिक्शा लिया है।

स्वामी रामदेव का 'ड्रैगन' पर वार, कहा- सबक सिखाने को करें आर्थिक बहिष्कार

जिस पर महापौर लिखा बैनर आगे टांगा गया है। ई- रिक्शा पर भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए 'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ' या 'मां-बेटी की बेइज्जती करो' का स्लोगन लिखकर टांग दिया है। 

दो दिन पहले जिलाधिकारी ने उनका वाहन जब्त कर लिया था। जबकि अब तक किसी महापौर का वाहन जब्त नहीं किया गया था। नियम के तहत उन्हें दूसरा वाहन भी उपलब्ध कराना जिला निर्वाचन अधिकारी का दायित्व है। आज तीन दिन बाद भी जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत ने उन्हें कोई वाहन उपलब्ध नहीं कराया है। यह पूरी तरह से कांग्रेस महापौर के साथ भाजपा सरकार की नाइंसाफी है। महिला महापौर की बेइज्जती है। 
अनीता शर्मा, महापौर, नगर निगम, हरिद्वार।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.