Monday, May 23, 2022
-->
harish rawat removed from the post of congress in charge of punjab  albsnt

हरिश रावत हटाये गए पंजाब प्रभारी कांग्रेस पद से, जानें सोनिया ने किन्हें सौंपी जिम्मेदारी?

  • Updated on 10/22/2021

नई दिल्ली/कुमार आलोक भास्कर। पंजाब में कैप्टन का ताज छिनने में महत्वपूर्ण रोल निभाने वाले प्रदेश कांग्रेस प्रभारी हरिश रावत की अब छुट्टी हो गई है। दरअसल पंजाब कांग्रेस के लिये हालिया दिनों में फेरबदल कोई नई बात नहीं है। लेकिन इस बार यह फेरबदल पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरिश रावत का हुआ है। जो लंबे समय से प्रदेश के प्रभारी थे। आज पार्टी ने एक आदेश से उन्हें तत्काल प्रभारी पद से मुक्त कर दिया है। जिस पर रावत ने कांग्रेस आलाकमान को शुक्रिया कहा है। वहीं अब राजस्थान में गहलोत सरकार के मंत्री हरिश चौधरी को पंजाब कांग्रेस प्रभारी बनाया गया है।

 मुंबईः 61 मंजिला इमारत में लगी आग, युवक ने 19वीं मंजिल से लगाई छलांग, मौत

बता दें कि अगले साल पंजाब के साथ-साथ उत्तराखंड में भी विधानसभा चुनाव है। जिसको ध्यान रखते हुए हरिश रावत ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से बार-बार अनुरोध किया था कि उन्हें पंजाब के प्रभारी पद से मुक्त किया जाए। ताकि वे अपना सारा ध्यान उत्तराखंड में दे सके। जिसे लंबे काल के बाद सोनिया गांधी ने स्वीकार कर लिया।

Harish Rawat

किसान आंदोलनः मुर्गा फ्री में न देने पर निहंग ने मजदूर की टांग तोड़ी

मालूम हो कि हरिश रावत के काल में ही पंजाब कांग्रेस में बहुत बड़ा फेरबदल हुआ। जिसके तहत राज्य के तत्कालीन सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हाथ धोना पड़ा। जिससे राज्य कांग्रेस में भूचाल आ गया था। माना जा रहा है कि हरिश रावत के ही सलाह पर सोनिया ने कैप्टन को सीएम पद से हटाने का फैसला किया था। वहीं नवजोत सिंह सिद्धू को भी प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाकर हरिश रावत ने कैप्टन को अपनी चतुर राजनीति का एहसास करा दिया। यहीं नहीं हरिश रावत की फिर परीक्षा तब हुई जब कैप्टन  के सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद उनका जल्द उत्तराधिकारी भी चुनना था। जिसको लेकर नवजोत सिद्धू सबसे खुश थे कि उन्हें ही सीएम का सेहरा मिलेगा। लेकिन हरिश ने सिद्धू को भी गच्चा देकर दलित चेहरे चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बना गए। ऐसे में सिद्धू फिर से नाराज हो गए। लेकिन उन्होंने दलित चेहरे को आगे लाकर कांग्रेस के जनाधार बढ़ाने के लिये सिर्फ पंजाब ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों में भी संदेश देने में सफल रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.