Friday, Oct 07, 2022
-->
harsh vardhan said the politics of akhilesh tharoor jairam is shameful on the corona vaccine sohsnt

डॉ हर्षवर्धन ने कहा- कोरोना वैक्सीन पर शर्मनाक है अखिलेश, थरूर और जयराम की सियासत

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद से विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने भारत बायोटेक के 'कोवैक्सीन' (Covaxin) टीके के इस्तेमाल की मंजूरी पर कई सवालिया निशान खड़े किये हैं, जिनका जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने कहा, एक गंभीर मुद्दे का राजनीतिकरण करना बेहद अपमानजनक और निंदनीय है।

दिल्ली में लगातार दूसरे दिन 500 से नीचे कोरोना केस, 14 लोगों ने गंवाई जान

विपक्ष के सवालों का हर्षवर्धन ने दिया जवाब
डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि इस तरह के महत्वपूर्ण मुद्दे का राजनीतिकरण करना किसी के लिए भी अपमानजनक है। शशि थरूर, अखिलेश यादव और जयराम रमेश ने कोविड-19 टीकों को मंजूरी देने के लिए विज्ञान समर्थित प्रोटोकॉल का खंडन करने की कोशिश न करें।

केजरीवाल ने विपक्ष के सवालों के बीच कोरोना टीकों पर वैज्ञानिकों को दी बधाई

अखिलेश यादव ने उठाया था सवाल
दरअसल, अखिलेश यादव ने भारत के कोविड-19 वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हे बीजेपी की वैक्सीन पर विश्वास नहीं है, इसलिए वे अपना वैक्सीनेशन नहीं कराएंगे। मालूम हो कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन 'कोविश‌िल्ड' और भारत बायोटेक के 'कोवाक्सिन' को मंजूरी दे दी है।

विपक्षी दलों के नेताओं ने कोरोना वैक्सीन के सीमित इस्तेमाल पर जताई चिंता

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने हर्षवर्धन से पूछा ये सवाल
कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कोविड-19 वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से जवाब मांगते हुए कहा कि भारत बायोटेक एक नई कंपनी है। ये आश्चर्य की बात है कि कोवैक्सीन के लिए, फेज-3 से जुड़े प्रोटेकॉल को संशोधित किया जा रहा है।

Corona vaccine को DCGI की मंजूरी, सत्येंद्र जैन ने बताया दिल्ली में किसे लगेगी पहले वैक्सीन

शशि थरूर ने इस वैक्सीन के इस्तेमाल की दी सलाह
कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने कोरोना वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारत बायोटेक को 'कोवैक्सीन' का तीसरा चरण पूरा होने से पहले टीकाकरण के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी। उन्होंने कहा समय से पहले वैक्सीनेशन की स्वीकृति खतरनाक हो सकती है। उन्होंने हर्षवर्धन से सवाल करते हुए कहा कि उन्हें सामने आकर वैक्सीन की स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और जब तक की वैक्सीन का परीक्षण पूरा नहीं हो जाता इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए, इस बीच देश में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का इस्तेमाल करना चाहिए।

Covaxin को DCGI की मंजूरी पर शशि थरूर ने उठाए सवाल

बताया नए स्ट्रेन में भी 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने वैक्सीन को लेकर कहा है कि यह वैक्सीन ब्रिटेन में पाए गए वायरस के नये प्रकार (स्ट्रेन) के खिलाफ कहीं अधिक कारगर रहने की संभावना है। साथ ही उन्होंने कहा कि टीके की मंजूरी के लिए निर्धारित किये गये विज्ञान समर्थित प्रोटोकॉल की विश्वसनीयता पर सवाल नहीं उठने चाहिए। 

इन दो वैक्सीन को इस्तेमाल की मिली इजाजत
गौरतलब है कि DCGI ने दो कोविड-19 टीकों के आपातकालीन उपयोग के लिए स्वीकृति दी है, जिनमें से एक एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित और दूसरा हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) के सहयोग से बनाया गया था।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.