Thursday, Jan 27, 2022
-->
harsimrat kaur badal said pm narendra modi in misunderstanding about the protest pragnt

हरसिमरत कौर ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- आंदोलन को लेकर गलतफहमी में PM मोदी

  • Updated on 2/6/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों ने एक बार फिर से सरकार पर दबाव बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया है। इस बार किसान संगठनों ने आज राष्ट्रव्यापी चक्का जाम (Chakka Jam) का आह्वान किया है। इस बीच शिरोमणि अकाली दल (SAD) की नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि किसानों का आंदोलन सिर्फ पंजाब में हो रहा है यह उनकी बहुत बड़ी गलतफहमी है।

महंगाई को लेकर केंद्र पर भड़के राहुल गांधी, कहा- बिगाड़ दिया देश और घर का बजट

हरसिमरत कौर का मोदी सरकार पर हमला
उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की जिम्मेदारी है कि वह दिल्ली जाएं और यह सुनिश्चित करें कि पंजाब के निर्दोष युवाओं के खिलाफ दर्ज मामले वापस लिए जाएं। उन्हें बिना किसी एफआईआर के जेल में डाल दिया गया है। यह पंजाब सरकार की जिम्मेदारी है कि वे उनकी मदद करें, वे क्या कर रहे हैं?हरसिमरत कौर बादल ने कहा, 'कैप्टन साहब का फर्ज बनता है कि वो दिल्ली जाकर बेकसूर नौजवानों को बाहर निकालें और उनके खिलाफ हुए केसों को बंद करें जिससे 200-300 नौजवानों की जिंदगी खराब ना हो। 26 जनवरी से उन नौजवानों को बंद करके रखा है, लाल किले के थाने पर एक भी एफआईआर हुई है?'

गलतफहमी में पीएम मोदी
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'मोदी सरकार को यह गलतफहमी है कि केवल पंजाब में आंदोलन हो रहा है। पूरे देश में विरोध हो रहा है, सभी राज्यों के किसान धरना स्थलों पर बैठे हैं। यदि वे अभी भी आंख बंद करके यह दावा करना चाहते हैं कि केवल पंजाब ही विरोध कर रहा है, तो कोई कुछ नहीं कर सकता।'

चक्का जाम: सुरक्षा घेरे में लाल किला! भारी संख्या में पुलिसबल तैनात, बैरिकेडिंग के ऊपर कंटीले तार

राष्ट्रीय और राज्य हाईवे पर यातायात रोका जाएगा
चक्का जाम के तहत देश में राष्ट्रीय और राज्य हाईवे पर यातायात रोका जाएगा। मोर्चा के डॉक्टर दर्शन पाल की ओर से चक्का जाम को लेकर दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं। 3 घंटे के चक्का जाम में दोपहर 3:00 बजे वाहनों के हॉर्न 1 मिनट तक बजाए जाएंगे, इसके बाद जाम समाप्त कर दिया जाएगा।

तैयार है दिल्ली पुलिस
चक्काजाम के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना ना हो इसके लिए दिल्ली पुलिस ने चाक चौबंद तैयारी की है। रेलवे व मेट्रो भी पूरी तरह से सतर्क है। आवश्यकता पड़ने पर दिल्ली मेट्रो के प्रभावित स्टेशनों में प्रवेश और निकासी द्वार को बंद किया जा सकता है।

किसान चक्का जाम के चलते बंद हो सकते हैं नई दिल्ली में ये 12 मेट्रो स्टेशन, अलर्ट पर दिल्ली पुलिस

आवश्यक सेवाओं को नहीं रोका जाएगा
राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों को दोपहर 12:00 से 3:00 बजे तक जाम किया जाएगा। इस दौरान इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एंबुलेंस, स्कूल बस आदि सेवाओं को नहीं रोका जाएगा। चक्का जाम शांतिपूर्ण और अहिंसक होगा। मोर्चा की तरफ से निर्देश दिए गए हैं कि प्रदर्शनकारी चक्का जाम के दौरान किसी भी अधिकारी कर्मचारी या आम नागरिक के साथ संघर्ष ना करें।

दिल्ली में दोषियों की जल्द सजा के लिए केजरीवाल सरकार ने पुलिस को दिया ये बड़ा तोहफा

दिल्ली के भीतर कोई चक्का जाम नहीं
निर्देश में कहा गया है कि दिल्ली में किसी तरह का चक्का जाम नहीं किया जाएगा, क्योंकि बॉर्डर सील होने के कारण वहां पहले से ही चक्का जाम जैसी स्थिति है। दिल्ली में प्रवेश की सभी सड़कें खुली रहेंगी, सिवाय उनके जहां पहले से ही किसानों के मोर्चे लगे हुए हैं। दोपहर 3:00 बजे 1 मिनट तक हॉर्न बजाकर किसानों की एकता का संकेत देते हुए चक्का जाम खत्म किया जाएगा।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.