Sunday, Apr 18, 2021
-->
harsimrat kaur badal targets rahul gandhi over agricultural laws sohsnt

कृषि कानूनों को लेकर हरसिमरत कौर बादल ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- घड़ियाली आंसू न बहाएं

  • Updated on 1/16/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शिरोमणि अकाली दल (Shiromani akali dal) की नेता हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के मुद्दे पर कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की नीति पर सवालिया निशान खड़े किए हैं। उन्होंने नए कानूनों के विरोध में किसानों के समर्थन में खड़ी कांग्रेस पर दोहरे मापदंड अपनाने का गंभीर आरोप लगाया है।

केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना, लगाया धोखाधड़ी का आरोप


हरसिमरत ने साधा राहुल गांधी पर निशाना
हरसिमरत ने वायनाड सांसद पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी दादी इंदिरा गांधी भी पंजाबियों को खालिस्तानी कहती थीं, ऐसे में राहुल अनपी दोहरे मापदंड से किसानों  को गुमराह न करें। उन्होंने राहुल से सवाल करते हुए पूछा कि आपकी दादी पंजाबियों के लिए खालिस्तानी शब्द करती थीं? हरसिमरत ने कहा, क्यों आपने उन्हें एक ड्रग एडिक्ट कहा? इसके साथ ही बादल ने कहा पहले इन सवालों के जवाब दें फिर आप पंजाबियों के साथ इस आंदोलन में खड़े हो सकते हैं।

NCP नेता मुंडे के बाद एकनाथ खडसे की बढ़ी मुश्किलें, ईडी ने की मैराथन पूछताछ

केंद्र ने इन बिलों को पास कराया तब कहां थे राहुल?
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने न सिर्फ राहुल को निशाने पर लिया बल्कि उन्होंने कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने अपने एक ट्वीट में सिलसिलेवार प्रश्न कर लिखा, राहुल गांधी उस समय कहां थे जब किसान पंजाब में नए कानूनों के खिलाफ सड़कों पर बैठे थे? वे तब कहां थे जब केंद्र ने इन बिलों को संसद में पास कराया?

कृषि मंत्री तोमर बोले- किसान संगठन ठोस मसौदा बनाकर सरकार को दें तो... 

कांंग्रेस के 40 सांसद राज्यसभा की कार्यवाही में नहीं थे
उन्होंने कांग्रेस सांसदों की पोल खोलते हुए कहा कि जब संसद में तीन नए कृषि बिल पास हो रहे थे उस समय कांग्रेस पार्टी के 40 सांसद राज्यसभा की कार्यवाही में उपस्थित ही नहीं थे। इतना ही नहीं हरसिमरत ने पंजाब के सीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे इस मुद्दे पर केंद्र के साथ है, सिर्फ दिखावे के लिए कानूनों का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा इन सब के बाद भी अगर राहुल गांधी ये सोचते हैं कि उनके संवेदना जताने से अपराध धुल जाएंगे?

यूपी में AAP विधायक सोमनाथ भारती को एक मामले में मिली जमानत

शिरोमणि अकाली दल ने छोड़ा एनडीए का साथ
मालूम हो कि साल 2020 में केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के मुद्दे पर शिरोमणि अकाली दल (Shiromani akali dal) ने एनडीए से अलग होने का फैसला लिया था। अकाली दल की कोर कमेटी ने ये फैसला तब लिया जब पंजाब में बड़ी संख्या में किसान तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में सड़कों पर उतर आए थे। इस दौरान पार्टी ने न सिर्फ एनडीए का दामन छोड़ा बल्कि अकाली दल से हरसिमरत कौर बादल ने भी क़षि कानूनों का विरोध करते हुए केंद्रीय मंत्रीपद से त्यागपत्र दे दिया था।

राहुल गांधी बोले, मोदी-माया टूट गयी, मोदी सरकार का अहंकार भी टूटेगा लेकिन... 

हरसिमरत कौर ने इस लिए दिया था त्यागपत्र 
हरसिमरत कौर बादल ने कृषि कषि विधेयक पर बयान देते हुए कहा था कि मैंने यह भी आग्रह किया था कि किसानों के साथ वार्ता संपन्न होने तक विधेयकों को प्रवर समिति के पास भेजा दिया जाए। उन्होंने कहा कि मेरी मांगों को दरकिनार कर संसद में कानूनों को पेश किया गया जिसके चलते मैंने त्यागपत्र देने का निर्णय लिया।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.