Sunday, Aug 07, 2022
-->
haryana govt presented a budget of rs 1.55 lakh crore emphasis on health agriculture pragnt

हरियाणा: खट्टर सरकार ने पेश किया 1.55 लाख करोड़ का बजट, हुई ये बड़ी घोषणाएं

  • Updated on 3/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 1.55 लाख करोड़ रुपये का बजट (Budget 2021) पेश किया। बजट में स्वास्थ्य, कृषि और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों पर विशेष जोर दिया गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने राज्य विधानसभा में अपना दूसरा बजट पेश किया। खट्टर के पास वित्त मंत्रालय का प्रभार भी है।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा का हरियाणा के CM पर निशाना, कहा- जनता की नजर में तो गिर गई है खट्टर सरकार

हरियाणा सरकार ने पेश किया बजट
खट्टर ने बजट अनुमानों में किसी नए कर का प्रस्ताव नहीं किया है। वित्त वर्ष 2021-22 का बजट बढ़ाकर 1,55,645 करोड़ रुपये किया गया है। यह इससे पिछले वित्त वर्ष के 1,37,738 करोड़ रुपये के बजट से 13 प्रतिशत अधिक है। बजट व्यय में 25 प्रतिशत या 38,718 करोड़ रुपये पूंजीगत व्यय और 75 प्रतिशत या 1,16,927 करोड़ रुपये राजस्व व्यय है। खट्टर ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने असाधारण चुनौतियां पैदा की हैं और इसने 'में कई सबक भी सिखाएं हैं'।

महाराष्ट्र के बाद पंजाब का कोरोना से बुरा हाल, मोहाली और फतेहगढ़ साहिब में नाइट कर्फ्यू

बजट में स्वास्थ्य- कृषि को मिली प्राथमिकता
उन्होंने कहा, 'यह महत्वपूर्ण है कि विशेषरूप से इस संकट के समय बजट में उन क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाए, जो अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार के लिए जरूरी है। हमने स्वास्थ्य, कृषि और बुनियादी ढांचे को प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में रखा है।' उन्होंने कहा कि उनकी सरकार हरियाणा की आर्थिक वृद्धि के लिए किसानों को समर्थन जारी रखेगी। बजट में क्षेत्र के लिए 6,110 करोड़ रुपये के व्यय का प्रस्ताव किया गया है। यह 2020-21 के 5,052 करोड़ रुपये के व्यय की तुलना में 20.9 प्रतिशत अधिक है।

रोजगार के मुद्दे पर केंद्र पर बरसे राहुल, कहा- नौकरी की मांग करने पर लग जाता है एंटी नेशनल का टैग

किसानों की आय को दोगुना करने को प्रतिबद्ध खट्टर सरकार
इसमें से 2,998 करोड़ रुपये कृषि और कृषक कल्याण, 489 करोड़ रुपये बागवानी, 1,225 करोड़ रुपये पशुपालन और डेयरी, 125 करोड़ रुपये मत्स्यपालन और 1,274 करोड़ रुपये सहकारिता के लिए रखे गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की आमदनी दोगुना करने को प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, 'हम अपने किसानों के ऋणी हैं जिन्होंने अपनी मेहनत से आज हरियाणा को देश का प्रमुख खाद्यान्न उत्पादक बनाया है। कृषि हमारी अर्थव्यवस्था का आधार है। हम किसानों की आय को दोगुना करने को प्रतिबद्ध हैं।'

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.