Wednesday, Feb 19, 2020
haryana home minister anil vij hits rahul and priyanka gandhi live petrol bombs

हरियाणा के गृहमंत्री बोले- लाइव पेट्रोल बम बनकर घूम रहे राहुल-प्रियंका

  • Updated on 12/25/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। हरियाणा (Haryana) के गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) को लाइव पेट्रोल बम (Petrol Bombs) बताया है। विज ने कहा कि मौजूदा समय में ये दोनों पेट्रोल बम बनकर घूम रहे हैं और जगह-जगह हिंसा करवा रहे हैं। राहुल -प्रियंका के पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में जाने के सवाल पर विद ने कहा कि ऐसे माहौल में कांग्रेस नेताओं (Congress Leaders) को राजनीतिक रोटियां सेंकना अच्छा लगता है और वह लोगों को भड़कानवे का काम कर रहे हैं। 

CAA के खिलाफ हैं, लेकिन हिंसक विरोध में नहीं रखते विश्वास- मायावती

कांग्रेस में अनपढ़ों की सारी जमात-विज
उन्होंने कहा कि हरियाणा में किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने देंगे। वहीं नागरिकता संशोधन कानून (CAA 2019) को लेकर दिल्ली (Delhi) में किए गए सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी समेत कांग्रेसियों के सत्याग्रह (Satyagraha) पर पलटवार करते हुए विज ने कहा कि मुझे लगता है कि कांग्रेसियों में सारी जमात ही अनपढ़ों की है। विज ने कहा कि यह कानून है जो सारे देश में उस दिन से लागू हो चुका है जब से लोकसभा (Lok Sabha) और राज्यसभा (Rajya Sabha) में पास होकर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने इस पर साइन किए हैं। 

प्रियंका गांधी ने दी PM को चुनौती, कहा- बेरोजगारी, बलात्कार, भ्रष्टाचार पर बोलें

राहुल-प्रियंका को UP पुलिस ने मेरठ सीमा पर रोका, दिल्ली लौटे
कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन व पार्टी की यूपी प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने मेरठ (Meerut) सीमा में घुसने से रोक दिया। दोनों नेताओं को एनएच-58 पर परतापुर से दिल्ली लौटा दिया। दोनों नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान मेरठ में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने जा रहे थे। काली इनोवा में एक साथ बैठे राहुल-प्रियंका को पुलिस ने रोका तो उन्होंने वह आदेश दिखाने को कहा, जिसके तहत उन्हें मेरठ जाने से रोका जा रहा था। पुलिस अधिकारियों ने उन्हें कोई आदेश तो दिकाया नहीं, अलबत्ता बताया कि इलाके में धारा 144 लागू है और उनके वहां जाने से कानून-व्यवस्था बिगड़ने का डर है। राहुल गांधी ने उनसे तीन लोगों को ही जाने देने की बात कही, मगर, सीओ और इंस्पेक्टर ने इनकार कर दिया और उन्हें वहां से दिल्ली लौटा दिया।

CAA के खिलाफ राजघाट पर कांग्रेस का 'सत्याग्रह', पढ़ी संविधान की प्रस्तावना

प्रदर्शन में मारे गए लोगों से मिलने जा रहे थे राहुल-प्रियंका
इस बात से राहुल और प्रियंका दोनों को काफी नाराज दिखे। उन्होंने राज्य की योगी आदित्यानाथ सरकार  (Yogi Adityanath Government) पर तीखा हमला किया। राहुल और प्रियंका के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी भी मौजूद थे। तिवारी ने यहा एआईसीसी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पहले हमारे नेताओं को मुरादनगर में रोका गया, फिर मेरठ के बाहर। उन्होंने कहा कि हमारे नेता तो मेरठ के लिसाड़ी गेट में उन पांच लोगों के घर जाना चाह रहे हैं जिनके बच्चे नागिरकता संशोधन कानून विरोधी प्रदर्शन के दौरान मारे गए हैं। बताया गया कि कांग्रेस नेता इमरान मसूद और पंकज मलिक ने पीड़ितों से मुलाकात की और मोबाइल से उनकी बात प्रियंका गांधी से करवाई।

सभी भारतीयों के लिए परेशानी बनेगा CAA, फिर कतारों में खड़े होंगे लोग- ओवैसी

कांग्रेस के सत्याग्र में मारे गए युवकों का किया था जिक्र
प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) बीते रविवार को बिजनौर (Bijnor) में उन दो युवकों के परिवारों से मिली थीं, जो प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में मारे गए थे। उन्होंने सोमवार को इन दोनों युवकों का जिक्र राजघाट (Rajghat) पर हुए कांग्रेस के सत्याग्रह में किया था और इनके नाम पर संविधान की रक्षा का संकल्प लिया था। प्रियंका गांधी कानून-व्यवस्था और महिला सुरक्षा और किसानों की समस्या-बेरोजगारी जैसे मुद्दों को लेकर लगातार यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला कर रही हैं। सीएए-एनआरसी (CAA-NRC) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन और प्रदर्शनकारियों पर हो रही गोलीबारी भी उनके एजेंडे में शामिल हो गया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.