Friday, Nov 16, 2018

#BJP सरकार को चाहिए खिलाड़ियों की कमाई में हिस्सा, एथलीट्स हुए खफा

  • Updated on 6/8/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने आज प्रदेश के खिलाड़ियों को अपने एक कदम में नाराज कर दिया है। दरअसल, भाजपा सरकार ने नया फरमान जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश सरकार ने सभी खिलाड़ियों से अब पेशेवर समारोह और विज्ञापनों से मिलने वाली रकम का एक-तिहाई हिस्सा चुकाना होगा। 

सलमान और उनके पिता सलीम से मिले गडकरी, तो क्या BJP को होगा फायदा?

30 अप्रैल की सरकारी अधिसूचना के मुताबिक खिलाड़ियों से वसूली गई एक-तिहाई रकम का इस्तेमाल हरियाणा में खेल और प्रतिभाओं को उभारने में किया जाएगा। खिलाड़ियों को उनके पेशेवर समारोहों और विज्ञापनों से मिलने वाली रकम का एक-तिहाई भाग हरियाणा राज्य खेल परिषद को देना होगा। 

प्रणब मुखर्जी के भाषण से कांग्रेस खुश, संघ और भाजपा पर साधा निशाना

राजनाथ को कश्मीर की किक बॉक्सर ने लगाया गले,  #Video Viral

सरकार के इस कदम की खिलाड़ियों ने कड़ी आलोचना की है और राज्य सरकार को ही आड़े हाथ लिया है। पहलवान गीता फोगाट का कहना है कि यह नया फरमान खिलाड़ियों का मजाक उड़ाने वाला है। क्रिकेटरों के लिए तो ऐसा कोई कायदा-कानून नहीं है, जो दूसरे खेलों की तुलना में ज्यादा रकम कमाते हैं। क्रिकेटरों तो विज्ञापनों से ही बहुत कमाते हैं, लेकिन कबड्डी, मुक्केबाजी और कुश्ती के खिलाड़ी इतना नहीं कमाते हैं।

जीबी रोड के कोठे को लेकर DCW चीफ मालीवाल का दिल्ली पुलिस को नोटिस

गीता ने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर हम अपनी कमाई का एक-तिहाई भाग देंगे, तो हमें तो कुछ नहीं मिलने वाला है। वैसे भी हम जैसे खिलाड़ी तो अभावों में ही जिंदगी बसर करते हैं। सरकार हमें कुछ देने की बजाए हमसे से हमारी कमाई लेना चाहती है। 

सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन का क्रिकेट करियर शुरू, श्रीलंका में दिखाएंगे टैलेंट

पहलवान सुशील कुमार ने भी सरकार की इस नीति की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने पहले कई अच्छी नीतियां बनाई हैं, लेकिन इस नीति से खिलाड़ियों के मनोबल पर विपरीत असर पड़ेगा। इस दिशा में सरकार को कमेटी बनाकर दोबारा विचार करना चाहिए। इसमें वरिष्ठ खिलाड़ियों की भी राय लेनी चाहिए। 

भीमा कोरेगांव हिंसा में अब जिग्नेश मेवानी पर कस सकता है शिकंजा

पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी अपने गुस्से का इजहार किया है। अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, 'ऐसे अफसर से राम बचाए, जब से खेल विभाग में आए है तब से बिना सिर -पैर के तुग़लकी फ़रमान जारी किए जा रहे है।हरियाणा के खेल-विकास में आपका योगदान शून्य है किंतु ये दावा है मेरा इसके पतन में आप शत् प्रतिशत सफल हो रहे है।अब हरियाणा के नए खिलाड़ी बाहर पलायन करेंगे और SAHAB आप ज़िम्मेदार।'
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.