Thursday, Aug 11, 2022
-->
hathras case cfi members arrested linked to delhi riots kmbsnt

दिल्ली दंगों से जुड़े हैं हाथरस केस में गिरफ्तार CFI सदस्यों के तार, हुए चौंकाने वाले खुलासे

  • Updated on 10/15/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हाथरस (Hathras) कांड से जुड़े कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (CFI) के आरोपियों के तार फरवरी माह में हुए दिल्ली दंगों (Delhi Riots) से जुड़े होने की बात सामने आई है। गिरफ्तार किए गए सीएफआई के सदस्य मसूद और अन्य ने पूछताछ के दौरान दिल्ली दंगों से जुड़े होने की बात कही है। शुरुआती जांच में पता चला है कि इन लोगों ने हाथरस में दिल्ली दंगों की तरह ही बड़े स्तर पर हिंसा करने की साजिश रच रहे थे।   

ये बात भी सामने आई है कि ये लोग लगातार पीएफआई के सदस्यों के संपर्क में थे। इनकी बात लगातार पीएफआई के उन पदाधिकारियों से हो रही थी जिन्होंने दिल्ली दंगों की साजिश रचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और गिरफ्तार भी हुए। हालांकि कुछ दिन बाद वो जमानत पर बाहर आ गए। इसके बाद इन लोगों ने हाथरस में भी दिल्ली दंगों की तरह ही हिंसा कराने की पूरी कोशिश की। 

हाथरस गैंगरेप: पीड़ित के पिता भाई से CBI कर रही है पूछताछ, घटना वाले दिन की लेंगे जानकारी

पीएफआई के सचिव से होगी पूछताछ
सूत्रों की मानें तो प्रवर्तन निदेशालय और उत्तर प्रदेश पुलिस अब पीएफआई के सचिव मोहम्मद इलियास से हाथरस कांड को लेकर पूछताछ कर सकती है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि दिल्ली दंगों में पुलिस की जांच में पीएफआई द्वारा दंगों के लिए फंडिंग करने की बात सामने आई है। 

हाथरस की फर्जी 'भाभी' के खिलाफ हिन्दू धर्म सेना ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिख मांगा न्याय....

इनकी हुई थी गिरफ्तारी
इतना ही नहीं कई बड़े नेताओं के तार भी पीएफआई के साथ जोड़े गए हैं। दिल्ली दंगों की साचिश रचने के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पीएफआइ के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद परवेज अहमद, सचिव मोहम्मद इलियास व त्रिलोकपुरी के एरिया कमांडर मोहम्मद दानिश अली को गिरफ्तार भी किया था। 

हाथरस घटना: फर्जी 'भाभी' का सामने आया भीम आर्मी से कनेक्‍शन, फेसबुक पर किए भड़काऊ पोस्‍ट

दिल्ली दंगों में मारे गए थे 50 से ज्यादा लोग
इसके अलावा कई अन्य छात्र संगंठनों से जुड़े युवाओं को भी पुलिस ने यूएपीए के तहत गिरफ्तार किया था। साजिश रचने के मामले में अब तक 21 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। वहीं 15 को यूएपीए के तहत गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध में हो रहे प्रदर्शन फरवरी माह में उग्र हो गए। राजधानी दिल्ली में 24 फरवरी के बाद स्थिति खराब हुई और दंगे भड़के। करीब दो दिन तक चले दंगों में 50 से ज्यादा लोग मारे गए। करोड़ों की संपत्ति जलकर राख हो गई। कई लोग बेघर हो गए और 200 से ज्यादा लोग इन दंगों में घायल हुए। 

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.