Sunday, Sep 26, 2021
-->
hd kumaraswamy speaks on speculation of merger of jds in bjp this false rumor pragnt

BJP में JDS के विलय की अटकलों पर कुमारस्वामी ने कहा- ये झूठी अफवाह

  • Updated on 12/21/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) ने बीजेपी (BJP) के साथ पार्टी के विलय की अफवाहों पर कहा कि हमारी पार्टी का किसी अन्य राष्ट्रीय या क्षेत्रीय दल में विलय नहीं होने जा रहा है। भाजपा की रिपोर्ट पर कुमारस्वामी को सीएम पद की पेशकश पर उन्होंने कहा कि राजनीतिक गतिविधियाँ भाजपा का आंतरिक मामला है। मैं उनकी पार्टी के फैसले में हस्तक्षेप नहीं करना चाहता। मैं विलय या गठबंधन के बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं स्पष्ट बहुमत पाने के लिए अगले 2.5 वर्षों तक कड़ी मेहनत करना चाहता हूं।

Corona Virus पर नियंत्रण पाते ही CAA पर आगे बढ़ेगी सरकार, बनाए जाएंगे नियम- गृहमंत्री अमित शाह

BJP-कांग्रेस को जेडीएस की जरूरत
जेडीएस नेता ने भाजपा और कांग्रेस के खिलाफ अकेले अपनी पार्टी के जीवित रहने के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि हर कोई देख रहा है कि दोनों राष्ट्रीय दल (भाजपा और कांग्रेस) हमारे पास कैसे आना चाहते हैं। हर किसी को जेडीएस की जरूरत होती है। जब वे अपने फलों को प्राप्त करने के बाद जेडीएस का समर्थन करते हैं।

आजन खान पर कार्रवाही को लेकर CM योगी पर भड़के अखिलेश, बोले- फंसाना BJP का एजेंडा

कुमारस्वामी ने सिद्धरमैया को दी चुनौती
इससे पहले एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को कांग्रेस नेता सिद्धरमैया को चुनौती दी कि वह जद (एस) और उसके नेतृत्व की आलोचना करने से पहले स्वयं एक स्थानीय दल का गठन करें और फिर अपने दम पर 10 सीटें जीतकर दिखाएं। भाजपा और जद (एस) के बीच साठगांठ का आरोप लगाने को लेकर कुमारस्वामी ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर सिद्धरमैया पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया, 'जद (एस) की सीटें जीतने की क्षमता, पार्टी प्रमुख देवगौड़ा और मेरी आलोचना करने वाले सिद्धरमैया को मैं एक चुनौती देता हूं। राष्ट्रीय दल की छाया से बाहर आएं, एक स्थानीय दल का गठन करें और अपने दम पर 10 सीटें जीतकर दिखाएं... उसके बाद हमारे नेतृत्व के बारे में बोलें।'

गौवंश की दुर्दशा को लेकर प्रियंका गांधी ने CM योगी को पत्र लिखकर चेताया- छत्तीसगढ़ सरकार से सीखें

स्थानीय दल बनाकर 10 सीटें जीतकर दिखाएं
उन्होंने सिद्धरमैया पर निशाना साधते हुए कहा, 'जद (एस) ने जितनी सीटें जीतीं हैं, उसे हल्के में ना लें। एक स्वतंत्र स्थानीय दल का गठन करने के लिए नेतृत्व क्षमता की आवश्यकता होती है। आप इन संघर्षों से वाकिफ नहीं हैं। यह आपके लिए संभव नहीं है।' कांग्रेस नेता सिद्धरमैया ने शुक्रवार को मैसूर में कहा था कि कुमारस्वामी पूर्व में इसलिए मुख्यमंत्री बन सके क्योंकि 2018 विधानसभा चुनाव में जद(एस) के मात्र 37 सीटें जीतने के बाद भी कांग्रेस उन्हे यह पद देने पर सहमत हो गई थी। इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कुमारस्वामी ने सिद्धरमैया को यह चुनौती दी।

कुमारस्वामी ने आरोप लगाया कि सरकार गठन के कुछ ही महीनों बाद सिद्धरमैया ने इसे गिराने के लिए योजना बनाई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के पाले में जाने वाले अधिकतर कांग्रेस विधायक सिद्धरमैया के विश्वासपात्र थे। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.