Wednesday, May 12, 2021
-->
hearing-over-oxygen-crisis-in-delhi-high-court-central-govt-corona-outbreak-kmbsnt

Oxygen Crisis पर एक बार फिर दिल्ली HC की केंद्र को फटकार, कहा- आप आंख मूंद सकते हैं हम नहीं

  • Updated on 5/4/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में कोरोना के कहर के बीच ऑक्सीजन की किल्लत अब भी जारी है। बिना ऑक्सीजन के कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं आज यानी मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट में इस मामले पर सुनवाई हुई। एक बार फिर से कोर्ट ने केंद्र सराकर को ऑक्सीजन की किल्लत पर फटकार लगाई।

कोर्ट ने केंद्र से कहा कि आप आखें मुंद कर बैठ सकते हैं, लेकिन हम नहीं। अमिकस क्यूरी ने जानकारी दी है कि दिल्ली में बिना ऑक्सीजन के कई लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। कोर्ट ने कहा है कि इस समय यदि महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की खपत कम है तो वहां से टैंकर दिल्ली भेजे जा सकते हैं।  

केजरीवाल सरकार ने शुरू किया 18 साल से अधिक आयु के लोगों के लिए टीकाकरण

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली को 700 मिट्रिक टन ऑक्सीजन देने को कहा- Delhi HC 
वहीं केंद्र ने कोर्ट में कहा कि हम आज सुप्रीम कोर्ट के सामने अपनी अनुपाल रिपोर्ट रख रहे हैं। हम इस तथ्य पर नहीं जाएंगे कि 700 मिट्रिक टन की आपूर्ति करने है या गैस के कोटे को पूरा करना है। वहीं कोर्ट ने केंद्र से कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी दिल्ली को 700 मिट्रिक टन ऑक्सीजडन देने को कहा है, ऐसे में उसे इतना ऑक्सीजन तो मिलना ही चाहिए। 

दिल्ली सरकार ने केंद्र पर लगाए ये आरोप
वहीं दिल्ली सरकार ने कोर्ट में ऑक्सीजन की सही प्रकार से सप्लाई न होने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि टैंकर्स का सही इस्तेमाल नहीं हो रहा है। वहीं केंद्र ने कोर्ट में मकहा है कि बीते दिन ही दिल्ली को 12 अतिरिक्ट टैंकर्स अलॉट किए गए हैं। दिल्ली सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग मर रहे हैं।, केंद्र से सही सप्लाई नहीं हो रही है, दोनो ही पक्षों के बीच तीखी बहस के बाद कोर्ट ने हस्तक्षेप किया। 

दिल्ली में कोरोना कहर के चलते एक सप्ताह के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन

मुनी मायाराम अस्पताल ने की ये अपील 
वहीं दिल्ली के मुनी मायाराम अस्पताल ने हाईकोर्ट में अपील की है कि हमारे पास 30 ऑक्सीजन बेड हैं, लेकिन हमें नकारा नहीं जा सकता। हमें ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है। इसकी कमी के कारण अस्पताल में रोज मरीज मर रहे हैं। सरकार ऑक्सीजन सप्लाई में नाकाम नजर आ रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.