Friday, Jul 01, 2022
-->
heart-and-doors-closed-for-chinese-companies-board-of-no-entry-gadkari-albsnt

चीनी कंपनियों के लिये दिल और दरवाजे दोनों बंद, लगा No Entry का बोर्डः गडकरी

  • Updated on 7/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर बढ़ते तनाव के बीच केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने साफ किया है कि देश के भीतर कहीं भी रोड बनाने में ड्रेगन कंपनियों को ठीका नहीं मिलेगा। उन्होंने साथ ही अहम बात कही है कि चीनी कंपनी ज्वाइंट वेंचर्स के माध्यम से भी भारत में निवेश नहीं कर सकता। मौजूदा तनाव को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया है कि चीन के लिये सभी दरवाजे बंद किया जाना चाहिये। उन्होंने भारतीय कंपनियों से आग्रह किया है कि वे टेक्नोलॉजी अपग्रेड करके इस माहौल को एक अवसर में बदल सकते है।

PM मोदी की 'आत्मनिर्भर भारत योजना' को लेकर मिशन मोड में सरकार, जनता का भी मिल रहा साथ

केंद्रीय मंत्री ने इस पर भी जोर दिया है कि पीएम मोदी के आत्मनिर्भर योजना को मूर्त रुप देने के लिये उनका मंत्रालय प्रतिबद्ध है। उन्होंने स्वीकार किया कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के घात लगाकर भारतीय सैनिकों पर हमले से पूरे देश में गु्स्सा व्याप्त है। उसके बाद केंद्र सरकार का यह कदम सराहनीय है। हालांकि उन्होंने कहा कि हाईवे प्रोजेक्ट का टेंडर हासिल करने के लिए भारतीय कंपनियों को अब पूरी तरह कई तरह की प्राथमिकता दी जाएगी।

'वंदे भारत' मिशन के तहत विदेशों से लोगों को वापस लाने का काम जारी, अब तक इतने यात्री पहुंचें भारत

उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी ज्वाइंट वेंचर में यदि चीनी कंपनियां साझेदार होगी तो उसे निरस्त करके नए टेंडर जारी किये जाएंगे। वहीं उन्होंने कहा कि तकनीक, कन्सलटेंसी या डिज़ाइन के क्षेत्र में विदेशी कंपनियों के साथ ज्वाइंट वेंचर करना अपरिहार्य हो जाता है। लेकिन चीन को इसमें किसी तरह की छूट नहीं दी जा सकती। दूसरी तरफ पीएम नरेंद्र मोदी के लेह यात्रा के बाद चीन पूरी तरह बोखला गया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने लेह यात्रा के दौरान सेना को संबोधित करते हुए चीन पर अपरोक्ष रुप से हमला भी बोला।

 

यहां पढ़ें भारत-चीन विवाद से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.