heavy-rain-in-chamoli

चमोली जिले में बारिश से मकान ढहे 3 दबे, घाट ब्लाक में बारिश से भारी नुकसान

  • Updated on 8/12/2019

गोपेश्वर/ब्यूरो। चमोली जिले में रविवार रात्रि से हो रही बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। जिले के घाट ब्लाक में अतिवृष्टि से भारी नुकसान की सूचना है। वंही की स्थानों पर बद्रीनाथ हाइवे भी अवरुद्ध हो गया है। सूचना मिलने के बाद जँहा घाट ब्लाक के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में तहसील प्रशासन और आपदा विभाग की टीमों द्वारा राहत बचाव कार्य शुरू कर दिए गए हैं। वहीं सबंधित विभागों द्वारा सड़कों को सुचारू करने का कार्य शुरू कर दिया गया है।

रविवार रात्रि से चमोली जिले में हुई भारी बारिश से सबसे अधिक नुकसान की सूचना घाट ब्लाक से मिली है। यहां चुफलागाड़ नदी का जल स्तर बढने से जहां घाट बाजार में बलवीर राम और दयाराम के व्यावसायिक भवन क्षतिग्रस्त हो गए हैं। वंही बांजबगड़ गांव में एक आवासीय भवन के पीछे से हुए भूस्खलन के चलते मां और बेटी के मलबे में दबने की सूचना है। जबकि बांजबगड़ गांव के ही ओली तोक में भी एक किशोरी के मलबे में दबे होने की सूचना है। वहीं घाट बांजबगड़ सड़क पर गरणी गांव में पहाड़‌ी से हुए भूस्खलन के कारण दो वाहन और एक आवासीय भवन भी मलबे में दब गया है।

मोख घाटी में मोक्ष नदी के उफान पर आने से कई आवासीय भवन खतरे की जद में आ गए हैं। वंही रातभर हुई बारिश से चमोली जिले में बाजपुर, कौड़िया, लामबगड़ और कंचनगंगा में अवरुद्घ हो गए हैं। जिसके चलते बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा पर जा रहे यात्री जगह-जगह हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे हैं। साथ ही जिले में भूस्खलन के कारण 14 ग्रामीण सड़कें भी अवरुद्घ हो गए हैं।

चमोली जिले में बारिश से सबसे अधिक नुकसान की सूचना घाट ब्लाक से मिली है। यहां अलग अलग दो घटनाओं में 3 लोगों के मलबे में दबे होने की सूचना मिली है। प्रभावित क्षेत्रों में तहसील और आपदा टीमें राहत- बचाव कार्य में जुट गई हैं। अभी भी क्षेत्र में बारिश जारी है। सड़कों खोलने के लिए सम्बंधित विभागों की ओर से कार्य शुरू कर दिया गया है। 
नन्द किशोर जोशी, आपदा प्रबंधन अधिकारी, चमोली।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.