Monday, Apr 12, 2021
-->
high court ban bjp karnataka govt order to withdraw 61 cases against including ministers rkdsnt

मंत्रियों समेत अन्य के खिलाफ 61 केस वापस लेने के भाजपा सरकार के आदेश पर लगाई रोक

  • Updated on 12/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक हाई कोर्ट ने राज्य के भाजपा सरकार के उस आदेश पर सोमवार को रोक लगा दी, जिसके तहत मंत्रियों और निर्वाचित प्रतिनिधियों के खिलाफ 61 मामलों में मुकदमा वापस लेने का फैसला किया गया था। मुख्य न्यायाधीश अभय श्रीनिवास ओका और जस्टिस विश्वजीत शेट्टी की खंडपीठ ने कहा, ‘‘हम निर्देश देते हैं कि 31 अगस्त, 2020 के आदेश के आधार पर आगे कोई कदम नहीं उठाया जाएगा।’’ 

ब्रिटेन में बेकाबू कोरोना वायरस से ग्लोबल मार्केट में हड़कंप, सेंसेक्स भी धड़ाम

अदालत ने सरकार को अगले वर्ष 22 जनवरी तक अपनी आपत्ति दाखिल करने का आदेश दिया। अदालत एक एनजीओ, पीपुल्स यूनियन ऑफ सिविल लिबर्टीज की उस याचिका पर यह सुनवाई कर रही थी जिसमें आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 321 के तहत 61 मामलों में मुकदमा वापस लिये जाने संबंधी सरकार के फैसले को चुनौती दी गई थी।

पीएम मोदी की मन की बात का थाली बजाकर किसान करेंगे विरोधमामले की एक दिसम्बर को पिछली सुनवाई के दौरान उच्च न्यायालय ने उच्चतम न्यायालय के एक आदेश का हवाला दिया था। अदालत ने कहा था कि सीआरपीसी की धारा 321 के तहत कार्रवाई केवल न्यायालय की अनुमति से की जा सकती है।

 हर जिले में भ्रष्टाचार रोधी विशेष अदालतें स्थापित करने के लिए SC में याचिका दायर

अदालत ने कहा था कि यहां तक कि अगर कोई आवेदन सीआरपीसी की धारा 321 के तहत किया जाता है, तो न्यायालय यह आकलन करने के लिए बाध्य हैं कि क्या एक प्रथमदृष्टया मामला बनता है या नहीं और न्यायालय के पास आवेदन खारिज करने का अधिकार है। 

 सनी लियोनी ने विक्रम भट्ट की नई फिल्म के लिए शुरू की शूटिंग

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.