high court order to release batla house but some scenes deleted

कुछ शर्तों के साथ बाटला हाउस को HC से मिली हरी झंडी, ये सीन्स होंगे डिलीट

  • Updated on 8/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। काफी समय से विवादों में फंसी बाटला हाउस (Batla House) को हाई कोर्ट (HC)ने रिलीज के लिए हरी झंडी दिखा दी है। ये फिल्म 15 अगस्त(15 August ) को रिलीज होने वाली है। इसके रिलीज से पहले हाई कोर्ट (High Court) ने कहा कि इस फिल्म के कुछ सीन हटा देने के लिए कहा है। 

हाई कोर्ट ने क्या कहा 

  • हाई कोर्ट ने कहा कि इस फिल्म की शुरुआत और अंत में एक डिस्क्लेमर चलाया जाएगा। 
  • इसके साथ ही फिल्म में दिल्ली पुलिस के  शहीद अधिकारी  एमसी शर्मा की तस्वीर भी दिखाने पर रोक लगा दी है। 
  • इस फिल्म से वो सीन भी हटा दिए जाएं जिसमें आरोपी अपने गुनाह कबूल रहा है।
  •  बम बनाने वाले सीन को भी हटान के निर्देश दिए गए हैं।

OMG: 2000 का नोट स्कैन करने पर आपके मोबाइल पर शुरु हो जाएगा 'मिशन मंगल' का Trailer

रिलीज पर खुश हैं फिल्म निर्माता

फिल्म के रिलीज को लेकर जब हाई कोर्ट ने हरी झंडी दे दी तो फिल्म मेकर के खुशी को कोई ठिकाना ही नहीं रहा। मेकर्स का कहना है कि कोर्ट ने जिन सीन को हटाने के लिए कहा है उसे हटा दिया जाएगा। 

बाटला हाउस से संबंधित जानकारी
जॉन अब्राहम की 'बाटला हाउस' यह 2008 में दिल्ली के एल-18 बाटला हाउस में हुए एनकाउंटर पर आधारित है। बाटला हाउस में इंडियन मुजाहिदीन के आतंकवादियों के खिलाफ अभियान चलाया गया था, जिसमें दो आतंकी मारे गए थे और दो भाग गए थे। इस फिल्‍म में जॉन अब्राहम एक जांबाज पुलिस ऑफिसर के रोल में नजर आएंगे। इस फिल्‍म की कहानी रितेश शाह ने लिखी है।

टीवी सीरियल 'ये रिश्ते हैं प्यार के' में आएगा ये बड़ा ट्विस्ट, इस एक्ट्रेस की एंट्री से होगा धमाका

लीड रोल को भारतीय सुपरकार्प और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट मोहन चंद शर्मा के इर्दगिर्द बुना गया है।जॉन उन्‍हीं के रोल में होंगे, लेकिन उनके किरदार का नाम डीसीपी संजीव कुमार यादव होगा। जॉन के अलावा इस फ‍िल्‍म में मृणाल ठाकुर, रवि किशन, प्रकाश राज, मनीष चौधरी आदि लीड रोल में हैं। ये फिल्म 15 अगस्त को रिलीज हो जाएगी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.