Wednesday, Apr 01, 2020
high court seeks response from center in delhi violence case next hearing on april 13

हाई कोर्ट ने दिल्ली हिंसा मामले में केंद्र से मांगा जवाब, 13 अप्रैल को अगली सुनवाई

  • Updated on 2/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थक और विरोधियों के बीच भड़की हिंसा के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में सुनवाई 13 अप्रैल तक के लिए टल गई है।

दिल्ली हिंसाः अरविंद केजरीवाल ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, हो सकता है बड़ा ऐलान

प्राथमिकी दर्ज करने का अभी सही समय नहीं- सॉलिसिटर जनरल
मामले की सुनवाई करते हुए सॉलिसिटर जनरल (SG) ने कहा कि भड़काऊ भाषण (Hate speech) पर प्राथमिकी (FIR) दर्ज करने का अभी उपयुक्त समय नहीं है। समय आने पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। उन्होंने कहा, यह समय हिंसा पर नियंत्रण कायम करने  व शांति बहाल करने का है। केंद्र सरकार से मिली जानकारी के मुताबिक इस घटना के बाद से अबतक 48 प्राथमिकी दर्ज हुई हैं।

दिल्ली हिंसाः #AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर #IB ऑफिसर अंकित शर्मा की हत्या का आरोप

उपयुक्त समय आने पर पुलिस निर्णय लेगी-रंजन
कोर्ट में उपस्थित पुलिस ऑफिसर प्रवीर रंजन ने बताया कि बुधवार तक 11 प्राथमिकी दर्ज की गईं थीं। इस पूरे मामले पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता का कहना है कि अथॉरिटी वीडियो देख रही है। उपयुक्त समय आने पर पुलिस निर्णय लेगी। अभी स्थिति नाजुक है ऐसे में कार्रवाई करना उचित नहीं। फिलहाल ये समय इस हिंसक स्थिति पर काबू पाने व शांति बहाल करने का है।  

IB अधिकारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हैरान डॉक्टर, आरोपी ताहिर को आप पार्टी ने किया निलंबित 

दिल्ली हाई कोर्ट में  घृणित भाषणों के खिलाफ दायर की गई याचिका
वहीं दूसरी तरफ  दिल्ली हाई कोर्ट में  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य के लिए खिलाफ कथित रूप से घृणा भाषण देने के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग वाली कई याचिकाएं गुरुवार को दायर की गईं हैं। इन याचिकाओं में एक दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप विधायक अमानतुल्ला खान  के खिलाफ भी कथित तौर पर घृणा भाषण देने के मामले में प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया गया है। याचिका में कथित घृणा भाषणों की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का अनुरोध भी किया गया है।

नफरत फैलाने वाले भाषणों पर लगाम कसने के लिये सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल

आदमी पार्टी ने पार्षद ताहिर हुसैन को प्राथमिक सदस्यता से किया निलंबित 
ऐसे में आम आदमी पार्टी ने अपने पार्षद ताहिर हुसैन को प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। जब तक उन पर लगे आरोप की जांच नहीं हो जाती और वह पाक साफ निकल कर नहीं आते तब तक प्राथमिक सदस्यता से निलंबित रहेंगे। आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन पर IPC की धारा 302 के तहत दयालपुर पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज हुई है।

comments

.
.
.
.
.