Monday, Nov 28, 2022
-->
hijab controversy in iran: rape threats to protesting women

ईरान में हिजाब विवादः प्रदर्शनकारी महिलाओं को मिल रहीं रेप की धमकियां

  • Updated on 9/30/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। ईरान में धार्मिक तानाशाही और हिजाब के खिलाफ आंदोलन को कुचलने के लिए सरकार हर हथकंडा अपना रही है। इस आंदोलन का नेतृत्व महिलाएं कर रही हैं। प्रदर्शनकारी महिलाओं को इजराइल का जासूस और वेेश्या कहकर बलात्कार तक की धमकी दी जा रही है। राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने प्रदर्शन से सख्ती से निपटने की बात कही है।

रिवोल्यूशनरी गाड्र्स प्रदर्शनकारी महिलाओं पर बल प्रयोग कर रहे हैं और बेहद कड़ाई से पेश आ रहे हैं। देशभर में इंटरनेट सेवा बाधित कर दी गई है। अब तक ईरान के 80 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन और झड़पों की खबरें आ चुकी हैं। लोग इस्लामिक रिपब्लिक और मौजूदा शासन का विरोध कर रहे हैं। 

बीबीसी की रिपोर्ट में एक महिला के हवाले से कहा गया है कि रिवोल्यूशनरी गाड्र्स ने उसे जमीन पर लिटाया और एक अफसर ने उसकी पीठ पर अपने जूते रख दिए। फिर पेट में मारा, हाथ बांधे, उठाया और गाड़ी में धकेल दिया। यह सुलूक एक 51 साल की महिला के साथ किया गया।

22 साल की महसा अमीनी की 16 सितम्बर को हिरासत में मौत के बाद से प्रदर्शन हो रहे हैं। अमीनी को हिजाब पहनने का नियम तोडऩे पर धार्मिक पुलिस ने गिरफ्तार किया था। परिवार का आरोप है एक अफसर ने हिरासत के दौरान उसके सिर पर डंडा मारा था और गाड़ी पर उसका सिर पटक दिया था।  

छोटे से कमरे में 60 महिलाएं

तेहरान की इरविन जेल में राजनीतिक कैदी रखे जाते हैं। मगर शायद वहां संख्या बहुत बढ़ गई है। इसलिए काफी संख्या में लोगों को छोटे पुलिस थानों में ही हिरासत में रखा गया है। ऐसी ही हिरासत में रही एक महिला ने बताया कि एक छोटे से कमरे में 60 महिलाओं को रखा गया। सब एक-दूसरे से चिपककर खड़ी थीं। बैठने तक की जगह नहीं बची थी। वे बाथरूम भी नहीं जा सकती थीं।

जज ने सबको रिहा किया

एक दिन हिरासत में रहने के बाद अगले दिन एक जज उनसे मिलने आए। उन्होंने इन पर लगे सारे आरोप हटा दिए और ज्यादातर लड़कियों को रिहा कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.