हिमाचल सरकार ने पीजी की पढ़ाई कर रहे डॉक्टरों के लिये बॉन्ड रकम की आधी

  • Updated on 2/6/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार ने उच्च चिकित्सा पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर रहे एमबीबीएस डॉक्टरों के लिये बॉन्ड की राशि 10 लाख रुपये से घटा कर पांच लाख रुपये करने का फैसला किया है। राज्य मेडिकल कॉलेजों के रेजिडेंट डॉक्टर लंबे समय से बैंक गारंटी नीति का विरोध कर रहे हैं। 

राज्य विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के तीसरे दिन ठाकुर ने कहा कि राज्य कैबिनेट ने मंगलवार की बैठक में बैंक गारंटी आधी करने का फैसला किया है। कीमोथेरेपी सुविधा के संबंध में कांग्रेस की आशा कुमारी की ओर से पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने ये बातें कहीं। 

हिमाचल के मंडी और चंबा में भूंकप के झटके, मचा हड़कंप

इससे पहले कुमारी के सवाल का जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने कहा था कि राज्य में कैंसर के मरीजों के लिये स्वास्थ्य सुविधाएं सुदृढ़ करने की दिशा में पर्याप्त कदम उठाये जा रहे हैं। नूरपुर से भाजपा विधायक राकेश पठानिया ने भी पूछा था कि कांगड़ा जिला एवं आस पास के इलाकों में मरीजों को लाभ के लिये आरपीजी मेडिकल कॉलेज टांडा में कीमोथेरेपी की सुविधा कब उपलब्ध करायी जायेगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.