Sunday, Sep 19, 2021
-->
how the corona virus causing havoc across the world started in india prshnt

सफरनामा 2020: जानें दुनियाभर में कहर बरपाने वाले कोरोना वायरस की शुरूआत भारत में कैसे हुई?

  • Updated on 12/23/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया भर में सबसे पहले कोरोना वायरस (Coronavirus) का मामला चीन के वुहान शहर में पाया गया था। वैज्ञानिकों को कोरोना वायरस के बारे में 31 दिसंबर 2019 को तब जानकारी मिली जब चीन के वुहान के हुबेई प्रांत के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक चेतावनी जारी की। जिसके बाद इस खतरनाक वायरस का दायरा बढ़ता गया और आज हाल ऐसा है कि विश्व में कोई कोना इस खतरनाक वायरस से अछुता नहीं है। भारत की बात करें तो यहां कोरोना संक्रमण का पहला मामला 30 जनवरी को केरल के त्रिशूर जिले में सामने आया था। जो चीन के वुहान विश्वविद्यालय से लौटी थी, जिसकी पुष्टी केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने ट्वीट कर दी थी। 

अरूण जेटली की प्रतिमा का हुआ विरोध, बेदी ने DDCA छोड़ी, कोटला स्टैंड से अपना नाम हटाने को कहा

फरवरी में कोरोना की दूसरे और तीसरे मरीज की पुष्टि
इसके बाद दो और तीन फरवरी को भारत में कोरोना के दूसरे और तीसरे मरीज की पुष्टि हुई जो कि वुहान से ही लौटे थे, दोनों में कोरोना की पुष्टी हुई थी। केरल से शुरू हुआ कोरोना संक्रमण देश के अन्य राज्यों में भी तेजी से फैलने लगा। केरल के बाद दिल्ली भारत का दूसरा शहर रहा जहां दो मार्च को कोरोना के पहले संक्रमण की पुष्टि हुई। पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार में कोरोना के संक्रमण का पता चला। संक्रमित शख्स ने पहले ऑस्ट्रेलिया और उसके बाद इटली की यात्रा की थी।

वहीं देश में तीसरा शहर हैदराबाद रहा जहां कोरोना का तीसरा मामला सामने आया। यहां दो मार्च को कोरोना के पहले संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं हैदराबाद में कोरोना का तीसरा मामला तेलंगाना से सामने आया जिसकी पुष्टि दो मार्च को हुई। इसके बाद राजस्थान में तीन मार्च को कोरोना के पहले संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं हरियाणा के गुरुग्राम में चार मार्च को पहला मामला सामने आया। गुरुग्राम में कोरोना से संक्रमित पाए जाने शख्स ने भी इटली की यात्रा की थी।

नए कोरोना रूप के आने से कर्नाटक सरकार ने लिया बड़ा फैसला, आज से रहेगा नाइट कर्फ्यू

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा फैला कोरोना
भारत में सबसे ज्यादा तेजी से संक्रमण महाराष्ट्र में फैला वहीं यहां केंद्र मुंबई रहा। अभी तक सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में ही हुई है महाराष्ट्र में सबसे पहले कोरोना की पुष्टि नौ मार्च को पुणे में हुई थी। मरीज ने अपनी बेटी और पत्नी के साथ दुबई की यात्रा की थी। इसके बाद 10 मार्च को यहां चार अन्य लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, जिनमें पहले मरीज की बेटी, पत्नी, फ्लाइट में साथ आए सहयात्री और कैब ड्राइवर शामिल थे।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 19,02,458 हो गई है। इसके साथ ही सक्रिय मामलों की संख्या 58,376 है। वहीं 17,94,080 लोग वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। यहां अब तक 48,876 लोग कोरोना की जद में आने के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं।

पवार बोले- दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों को अपने हक के लिए लड़नी पड़ रही है लड़ाई

तमिलनाडु देश का दूसरा ऐसा राज्य जहां कोरोना ने मचाया कहर
वहीं महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु देश का दूसरा ऐसा राज्य है जहां कोरोना वायरस का संक्रमण सबसे अधिक है। यहां कोरोना वायरस की चपेट में अब तक 9,11,382 लोग आ चुके हैं। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 13,993 हो गई है। संक्रमण को मात देकर स्वस्थ होने वालों की संख्या 8,85,341 पर पहुंच गई है। वहीं संक्रमण की जद में आने से प्रदेश में अब तक 12,029 लोगों की मौत हो चुकी है।

केंद्रीय मंत्रियों और सांसदों ने संसद भवन में चौधरी चरण सिंह को दी श्रद्धाजंली, अर्पित की पुष्पांजलि

दिल्ली में पहला मामला मयूर विहार में सामने आया
जबकि कोरोना से प्रभावित देश का तीसरा बड़ा शहर दिल्ली है दिल्ली में पहला मामला दो मार्च को मयूर विहार में सामने आया था। शख्स ने इटली और ऑस्ट्रेलिया की यात्राएं की थी। दूसरा मामला पांच मार्च को जनकपुरी से सामने आया जो कि एक बड़ी कंपनी का कर्मचारी था और भी इटली की यात्रा की थी। यहां संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6,18,747 हो गई है। कोरोना के कुल मामलों में सक्रिय मामलों की संख्या 8,735 है। वहीं 5,99,683 लोग कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं। यहां अब तक 10,329 लोगों की जान जा चुकी है।

किसानों ने 'किसान दिवस' पर एक समय का खाना नहीं खाने की लोगों से की अपील

देश में अब तक 1,46,476 लोगों की मौत
बता दें कि बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस का कहर अब तक लगातार जारी है। देश में 24 घंटे में कोरोना के 23,950 नए केस, 333 की मौत हुई है, भारत में कोरोना से 1,00,99,308 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 1,46,476 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हालांकि, राहत की बात ये है कि 96,62,697 इस वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या सक्रिय मामलों की संख्या से अधिक है। सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,87,432  है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.