Monday, Jan 21, 2019

केजरीवाल के मनाने के बावजूद नहीं माने फुल्का, दिया AAP से इस्तीफा

  • Updated on 1/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी से जुडे़ एडवोकेट एच एस फुल्का ने पार्टी को करारा झटका दिया है। फुल्का ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा, 'मैंने अपना इस्तीफा केजरीवाल जी को सौंप दिया है, हालांकि उन्होंने मुझे इस्तीफा नहीं देने को कहा, पर मैंने इससे इंकार कर दिया।' 

RBI ने छोटे उद्योगों के कर्ज को लेकर दी छूट, जारी किए नए नियम

CBI में खाली पड़े पदों को लेकर संसदीय समिति ने जताई अपनी चिंता, दिए निर्देश

बता दें कि फुल्का ने 2014 में AAP के टिकट से लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। माना जा रहा है कि फुल्का दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच बढ़ती करीबियों को लेकर नाराज चल रहे थे। फुल्का पंजाब में AAP के बड़े नेता रहे हैं। पंजाब में उन्होंने पार्टी के लिए बेहद मेहनत की। 

राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई पर कल रहेंगी सभी की निगाहें

फुल्का ने यह भी साफ किया कि वह इस मुद्दे पर शुक्रवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई खुलासे करेंगे और भविष्य के कदमों के बारे में बताएंगे। फुल्का ने 1984 सिख दंगा मामले में सिखों की ओर से पैरवी करते आ रहे हैं। कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सजा भी उनकी पैरवी का ही रिजल्ट माना जा रहा है। 

कांग्रेस ने राफेल डील पर जेटली के भाषण को बनाया अपना हथियार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.