Thursday, Jan 23, 2020
hyderabad gangrape encounter pic viral

हैदराबाद एनकाउंटर बताकर सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से Viral हो रही इस तस्वीर सच

  • Updated on 12/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हैदराबाद (Hyderabad)  रेप मर्डर केस में  शुक्रवार सुबह जो सुनने को मिला उसे सुनकर हर किसी के दिल में पुलिस (Police) को लेकर एक नई उम्मीद जग गई। इसी उम्मीद के बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर सामने आई है जिसमें कुछ पुलिस वाले खड़े हैं और कुछ लाशे जमीन पर गिरी हुई दिख रही हैं।

इस तस्वीर को यूजर्स हैदराबाद रेपिस्ट के एनकाउंटर की तस्वीर बताकर धड़ल्ले से सोशल मीडिया (Social media) पर शेयर कर रहे हैं। अगर आप भी सोशल मीडिया का यूज करते हैं तो कल आपके आंखों के सामने से ये तस्वीर जरुर गुजरी होगी और आपने भी शायद इस तस्वीर को सच मान लिया होगा। इन यूजर्स की तरह-

हैदराबाद एनकाउंटर के बाद सवालों के घेरे में पुलिस, हमेशा एक जैसी कहानी कैसे?

देखें ये सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे हो रही हैं ये तस्वीर वायरल

हैदराबाद एनकाउंटर के बाद काफी यूजर्स ने ये तस्वीर अपने सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर की है  लेकिन शायद इस तस्वीर को शेयर करते हुए आपने ये भी नहीं सोचा होगा कि क्या ये सच में वहीं की तस्वीर है या नहीं।

निर्भया की मां ने कहा, ‘एनकाउंटर सही, नहीं होनी चाहिए जांच’

वायरल तस्वीर का सच
चलिए हम इस तस्वीर की सच्चाई से पर्दा उठाते हुए कहा कि ये तस्वीर हैदराबाद एनकाउंट की नहीं है बल्कि साल 2015 की है जब आंध्र प्रदेश की पुलिस ने 20 चंदर तस्करों को एनकाउंटर में मारा था।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ‘सेशाचलम जंगलों में रक्त चंदन के पेड़ गिराते हुए पकड़े जाने पर तमिलनाडु के 20 लकड़हारों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। रक्त चंदन तस्करी रोकने के लिए बनी टास्कफोर्स को इसकी जानकारी मिली थी। पहले इन तस्करों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया था लेकिन तस्करों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की जिसके बाद पुलिस ने गोली चलाई।’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.