Saturday, Apr 17, 2021
-->
hyderabad-nizam-india-pakistan-nizam-fund

हैदराबाद निजाम की अरबों की सम्पत्ति भारत को मिलेगी, पाकिस्तान को लगा झटका

  • Updated on 10/2/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  हैदराबाद के निजाम की संपत्ति को लेकर दशकों से चल रहे विवाद में ब्रिटेन की हाईकोर्ट (High Court) ने मामले को भारत के पक्ष में सुनाया है। बता दें कि भारत विभाजन के दौरान निजाम की लंदन के एक बैंक में जमा फंड को लेकर भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच 70 सालों से  केस चल रहा था। जिस पर कोर्ट ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है।

सीएम योगी ने इन्सेफेलाइटिस के बहाने विरोधी दलों पर साधा निशाना

कोर्ट ने कहा है कि इस सम्पत्ति पर भारत और निजाम के वंशजों का हक है। बता दें कि निजाम के वंशज प्रिंस मुकर्रम जाह और उनके छोटे भाई मुफ्पखम जाह इस मुकदमें में भारत सरकार के साथ थे।  

कश्मीर पर UAE ने दिया भारत का साथ, पाक को लगा झटका

बता दें कि भारत विभाजन के दौरान हैदराबाद के 7वें निजाम मीर उस्मान अली खान ने लंदन स्थित नेटवेस्ट बैंक अकांउट में करीब 1,007,940 पाउंड (करीब 8 करोड़ रुपए) जमा कराए थे। जो कि अब बढ़कर करीब 35 मिलियन पाउंड ( करीब 3 अरब 8 करोड़ 40 लाख) तक पहुंच गया है।  

कश्मीर में विकास शुरू होने के साथ ही PAK की 70 साल की योजना धरी रह जाएगी: विदेश मंत्री

 इस भारी रकम पर 70 साल से भारत और पाकिस्तान अपना हक जताते आए हैं। लंदन के रॉयल कोर्ट ऑफ जस्टिस के जज मार्कस स्मिथ ने कहा है कि इस फंड के मालिक हैदराबादे के निजाम थे। अब उनके बाद इस फंड के मालिक उनके वंशज और भारत दोनों दावेदार हैं।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.