Wednesday, Apr 08, 2020
hyderabad uidai asks for proof of citizenship asaduddin owaisi attack modi govt

UIDAI ने मांगे नागरिकता के सबूत, सरकार पर भड़के असदुद्दीन ओवैसी

  • Updated on 2/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून (CAA), एनआरसी (NRC) और एनपीआर (NPR) के खिलाफ देशभर में जारी राजनीति खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच हैदराबाद (Hyderabad) से एक नया मामला सामने आया है। यहां आधार कार्ड (Aadhar Card) के अधिकारियों ने एक नागरिक से उसकी नागरिकता साबित करने को कहा है। इसके बाद राज्य में बवाल खड़ा हो गया है और एआईएमआईएम (AIMIM) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने मोदी सरकार (Modi Government) पर निशाना साधा है।

'महाकाल एक्सप्रेस' में शिव मंदिर को लेकर ओवैसी ने PM मोदी पर साधा निशाना

हैदराबाद में नागरिकता के मसले पर बवाल
चारमीनार थाना क्षेत्र के भवानी नगर के निवासी मोहम्मद सत्तार को यूआईडीएआई (UIDAI) ने समन भेजते हुए उनको उनकी नागरिकता साबित करने को कहा है। मोहम्मद सत्तार हैदराबाद के पुराने नागरिक है। बता दें कि ये नोटिस आधार के नियम 30 के तहत भेजा गया है। वहीं इस नोटिस के बाद राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया है। 

UIDAI ने नोटिस भेज आधार की जानकारी मांग
UIDAI के नोटिस के बाद मोहम्मद सत्तार को अपने सभी कागजात को दिखाने होंगे, जिससे कि उसकी नागरिकता साबित हो सकें। इसके अलावा नोटिस में यब भी कहा गया है कि अगर वो भारत के नागरिक नहीं है तो उन्हें वो सभी दस्तावेज दिखाने होंगे जिसके तहत उन्हें यहां रहने की इजाजत मिली है। 

विरोध प्रदर्शन को लेकर भागवत के बयान पर ओवैसी ने पूछा ये सवाल

UIDAI ने हैदराबाद में 127 लोगों को जारी किया नोटिस
गौरतलब है कि यूआईडीएआई ने मंगलवार को कहा था कि उसके हैदराबाद कार्यालय ने कथित तौर पर गलत तरीका अपनाकर आधार नंबर प्राप्त करने के लिए 127 लोगों को नोटिस भेजे हैं, हालांकि यह जोड़ा कि इसका नागरिकता से कोई संबंध नहीं है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने पुलिस से रिपोर्ट मिलने के बाद नोटिस जारी किए।

बयान में कहा गया कि आधार नागरिकता का दस्तावेज नहीं है और आधार अधिनियम के तहत यूआईडीएआई को यह सुनिश्चित करना होता है कि आधार के लिए आवेदन करने से पहले कोई व्यक्ति भारत में कम से कम 182 दिनों से रह रहा है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपने एक ऐतिहासिक फैसले में यूआईडीएआई को अवैध प्रवासियों को आधार नहीं जारी करने का निर्देश दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.