Wednesday, Apr 14, 2021
-->
icici-bank-suppots-chanda-kochhar-over-the-allegations-of-3250-crore-loan

ICICI बैंक: 3250 करोड़ रुपए के लोन मामले में घिरी CEO चंदा कोचर

  • Updated on 3/29/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ चंदा कोचर पर लोन देने में भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद का मामला सामने आया है। इन आरोपों के चलते बैंक के शेयर प्राइस में 6 प्रतिक्षत की गिरावट आ चुकी है। खबरों के मुताबिक दिसंबर 2008 में वीडियोकॉन समूह के मालिक वेणुगोपाल धूत ने बैंक की सीईओ और एमडी चंदा कोचर के पति दीपक कोचर और उनके दो संबंधियों के साथ मिलकर ज्वाइंट वेंचर (जेवी) बनाया।

इसके बाद इस कंपनी के नाम पर 64 करोड़ रुपए का लोन लिया। बाद में मात्र 9 लाख रुपये के लिए उस ट्रस्ट को सौंप दिया गया। इस कंपनी की कमान दीपक कोचर के पास थी। खुलासा हुआ है कि ज्वाइंट वैंचर के हस्तांतरण से 6 महीने पहले वीडियोकोन ग्रुप ने आईसीआईसीआई बैंक से 32580 करोड़ रुपए का लोन लिया था। जब 2017 में वीडियोकोन पर 86 प्रतिक्षत लोन यानी 2810 करोड़ रुपए बाकी था बैंक ने इस पैसे को एनपीए (नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स)  घोषित कर दिया। सूत्रों का कहना है कि अब इस मामले में जांच एजेंसी धूत कोचर आईसीआईसीआई के बीच लेन देन की जांच कर रही है।

हालांकि बैंक ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि बोर्ड को बैंक के एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर पूरा भरोसा है। तथ्यों को देखने के बाद बोर्ड इस नतीजे पर पहुंचा है कि हितों और भ्रष्टाचार की जो अफवाहें फैल रही हैं उनमें कोई सच्चाई नहीं है। साथ ही कहा कि आईसीआईसीआई की साख को खराब करने के लिए फैलाई जा रही है। फिलहाल बोर्ड वे दीपक कोचर वेणुगोपाल धूत के बीच हुई ट्रांजैक्शन के सवाल पर कोई जवाब नहीं दिया है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.