Monday, Mar 01, 2021
-->
if-farmers-stop-five-national-highways-there-will-be-shortage-of-essential-goods-prsgnt

किसानों ने अगर इन 5 नेशनल हाईवे रोके तो राज्यों में जरूरी सामान की हो जाएगी भारी किल्लत….

  • Updated on 12/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नए किसान कानून (Farm Laws) को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान सिंघू बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर के बाद अब किसानों का जमावड़ा राजधानी में आने वाले अन्य मार्गों पर लग गया है। जिसके कारण दिल्ली के अधिकांश बॉर्डर वाले रास्तों पर बैरीकेडिंग लगा दी गई हैं। 

किसानों के प्रदर्शन से लोगों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना न करना पड़े इसके लिए ट्रैफिक एडवाजरी भी जारी की गई है। पुलिस का कहना है कि लोग पैनिक न हो। हरियाणा और यूपी के कुछ मार्गों को छोड़कर अधिकांश रास्ते खोल दिए गए हैं, जहां से लोग आसानी से आ जा सकते हैं। 

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली जाकर प्रदर्शन करने पर अड़े किसानों को लिया गया हिरासत में

तो वहीँ, चौथे दौर की बातचीत के बाद भी किसानों की समस्या का कोई हल नहीं निकल सका। किसान आज 9वें दिन भी पूरे जोश के साथ दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं। अब शनिवार 5 दिसंबर को एक बार फिर से किसानों और केंद्र सरकार के बीच पांचवे दौर की बातचीत होगी। लेकिन तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। 

लेकिन क्या होगा जब सभी मुख्य सड़कें आंदोलन के कारण बंद कर दी जाएंगी और लोगों को किन दिक्कतों का समाना करना पड़ेगा।  वहीँ, किसान सरकार पर दबाव बनाने के लिए अब पांच नेशनल हाईवे को बंद करने की तैयारी में हैं। जिन पांच नेशनल हाईवे को बंद करके दिल्ली की मोर्चाबंदी का ऐलान किया गया है उनमें दिल्ली-चंडीगढ़, दिल्ली-हिसार, दिल्ली-जयपुर, दिल्ली-आगरा, दिल्ली-बरेली है।

दिल्ली: सिंघु बॉर्डर पर किसानों की बैठक आज, आगे की रणनीति पर होगा मंथन

इतना ही नहीं किसानों के प्रदर्शन के कारण दिल्ली-हिसार भी बंद है जिससे हरियाणा, पंजाब, हिमाचल व जम्मू कश्मीर के वाहन चालकों को परेशानी हो रही है। अब अगर अन्य तीन नेशनल हाईवे भी बंद हो जाते हैं तो दिल्ली के साथ हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल, जम्मू, यूपी, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड पूरी तरह से प्रभावित होंगे। 

इन राज्यों से सीधा आवागमन रुक जाएगा और फिर इन राज्यों में दूध, सब्जी, फल, यूरिया, कीटनाशक, दवाई, कपड़े, जूते-चप्पल, चमड़े का सामान, ऑटो पार्ट्स, जूते, वनस्पति आदि की किल्लत बढ़ जाएगी। अभी तक दिल्ली-एनसीआर में दूध, सब्जी व फल की किल्लत दिल्ली व एनसीआर को झेलनी पड़ रही है, लेकिन अब अगर दूसरे हाईवे भी रुके तो हालात बिगड़ जाएंगे। इसकी सीधी मार आम आदमी पर पड़ेगी।  

किसान आंदोलन: फिर बेनतीजा रही बैठक, 5 दिसंबर तक अंतिम फैसले के आसार

अगर यह हाईवे रुके तो यहां और इन सुविधाओं की होगी परेशानी...  

दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल 
हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर 
सब्जी, दूध, फल, खाद्य सामग्री, सूखा मेवा, दवाई, ऑक्सीजन, खाद, कागज, कपड़े

दिल्ली-हिसार नेशनल 
हरियाणा, पंजाब, राजस्थान
दूध, सब्जी, खाद्य सामग्री, कृषि उपकरण, खाद, कपड़े

दिल्ली-जयपुर नेशनल 
हरियाणा, राजस्थान
यूरिया, कीटनाशक, कृषि उपकरण, गाडिय़ां, बाइक, वाहनों के उपकरण

दिल्ली-मथुरा-आगरा नेशनल
उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश
चमड़े के जूते व चप्पल समेत अन्य सामान, कपड़ा, सोयाबीन व तिलहन के साथ ही वनस्पति घी, कीटनाशक

दिल्ली-मुरादाबाद-बरेली नेशनल
उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड
सब्जी, दूध, खाद्य सामग्री जैसे मैगी, ऑटो पार्ट्स, ट्रैक्टर 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.