Friday, Jul 01, 2022
-->
if the original voter id card is lost then you will be able to cast votes through photo copy

दिल्ली चुनाव: अगर खो गया है ओरिजनल वोटर आईडी कार्ड, तो फोटो कॉपी से भी डाल सकेंगे वोट- CEO

  • Updated on 1/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आपका वोटर आईडी कार्ड (voter id card) खो गया है, या पोलिंग के लिए ले जाना भूल गए,  ऐन वक्त पर मिल नहीं रहा है, आपको अब चिंता सता रही है वोट देने का, टेंशन है वोट न डाल सकने का। तो अब आपको इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं।

दिल्ली चुनाव: काम पर वोट पढ़ना चाहिए, धर्म जाति पर नहीं- केजरीवाल  

ऐसी व्यवस्था पहली बार की गई है
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने आपको सहूलियत दी है। यदि आपके पास वोटर आईडी कार्ड की फोटो कापी हैं जो निश्चित होकर विश्वास के साथ आठ फरवरी को वोट डालने पोलिंग स्टेशन जाएं और अपना बहुमूल्य वोट देश के लिए दें। मतदान अधिकारी आपकी वोटर आईडी कार्ड को स्वीकार कर उसी पर आपको वोट देने की अनुमति देंगे। ऐसी मुकम्मल व्यवस्था की गई है। ऐसी व्यवस्था पहली बार की गई है। पहले ऐसा नहीं था।

दिल्ली चुनाव: कमल का बटन इतने गुस्से से दबाना कि इसका असर शाहीन बाग तक हो- शाह

बड़ी संख्या में मतदाता कार्ड खो जाने का कारण वोट देने से वंचित रह जाते थे
इस बाबत मुख्य निर्वाचन अधिकारी डा रणबीर सिंह ने बताया, अक्सर बड़ी संख्या में मतदाता इसलिए वोट देने से वंचित रह जाते थे क्योंकि, उनका वोटर आईडी कार्ड नहीं मिलता था। लेकिन, मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने इसका तोड़ निकाल कर वोट डालने की अनुमति दी है।

दिल्ली चुनाव: BJP ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं - शाह

ओरिजनल वोटर आईडी कार्ड नहीं मिल रहा है तो चिंता की कोई बात नहीं
उन्होंने बताया, किसी का ओरिजनल वोटर आईडी कार्ड नहीं मिल रहा है तो चिंता की कोई बात नहीं। ऐसे में किसी के मोबाइल फोन में वोटर आईडी कार्ड का फोटो हो तो वह मोबाइल से ही उसका प्रिंट एक कागज पर निकलवा कर उसे लेकर पोलिंग स्टेशन जाए और अपने संबंधित बूथ पर जाकर उसी से मतदान कर सकता है।

दिल्ली चुनाव: सोशल मीडिया के जरिए न फैले सांप्रदायिक जहर, दिल्ली पुलिस ने की खास तैयारी 

मतदाता वोट देने से वंचित न रह जाए इसलिए यह कदम उठाया
डॉ सिंह ने बताया, यह व्यवस्था पहली बार इसलिए की गई है ताकि दिल्ली विधानसभा चुनाव में पिछली बार की अपेक्षा इस वर्ष मत प्रतिशत बढ़ सके। दूसरे, कोई भी मतदाता वोट देने से वंचित न रह जाए इसलिए यह कदम उठाया गया है। 

comments

.
.
.
.
.