सर्दियों में ज्यादा ठंड लगें तो गंभीरता से लें, हो सकता है हाइपोथर्मिया

  • Updated on 12/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सर्दिया आ चुकी हैं और इसी के साथ इस मौसम के साथ होने वाली दिक्कतें भी परेशान करने लगेंगी। ऐसी ही एक समस्या है सर्दी बढ़ने पर कुछ लोगों की इतनी ठंड लगती है जिससे शरीर का तापमान जरुरत से ज्यादा कम हो जाता है जोकि खतरनाक साबित हो सकता है। ये खासतौर से बच्चों और बुजर्गों को परेशान करता है। इस उम्र के लोगों के लिए खास ध्यान रखने की जरुरत है। इस उम्र के लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है इसलिए सर्दी जल्दी पकड़ती है। इस समस्या को हाइपोथर्मिया कहते हैं। 

6 चीजें जिनसे घर बैठे पता किया जा सकता है कि आप प्रेग्नेंट हैं कि नहीं

क्या हैं उपाय?

हाइपोथर्पियां के खतरे से खुद को बचाने के लिए कई तरह के उपाय किए जा सकते हैं। हाइपोथर्मिया के समय हाथ पैर जरुरत से ज्यादा ठंडे और पेट में दर्द रहता है। ये कई बार जानलेवा भी साबित हो सकता है। इस समय शरीर का तापमान सामान्य से कम यानी 37 डिग्री से कम हो जाता है। तापमान कम होने से सुस्ती र नींद के साथ-साथ आवाज धीमी हो जाती है। 

बेहतर नींद के लिए म्यूजिक का सहारा लेना हो सकता है नुकसानदायक?

ऐसे बचाएं खुद को, करें ये उपाय

इससे बचने के लिए सर्दी से खुद को बचान करें। घर से बाहर जाते समय गर्म कपड़े पहने। खाली पेट घर से बाहर ना निकलें इससे शरीर की गर्मी बनी रहती है। सिर को ढककर रखें क्योंकि सिर से शरीर को ज्यादा गर्मी मिलती है। जितना हो सकें खुद को सीधी आग या हीटर से दूर रखें। सीधी आग या गर्मी से उल्टा असर पड़ता है। दस्ताने, मोजे और बॉडी वार्मर पहनकर ही बाहर निकलें। अगर ज्यादा ठंड लग रही हो तो मरीज को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। हाथ पैरों का रगड़ें, बिना डॉक्टर की सलाह से कोई दवा ना लें। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.