Wednesday, Jan 27, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 26

Last Updated: Tue Jan 26 2021 10:47 AM

corona virus

Total Cases

10,677,710

Recovered

10,345,278

Deaths

153,624

  • INDIA10,677,710
  • MAHARASTRA2,009,106
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA936,051
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU834,740
  • NEW DELHI633,924
  • UTTAR PRADESH598,713
  • WEST BENGAL568,103
  • ODISHA334,300
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN316,485
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH296,326
  • TELANGANA293,056
  • HARYANA267,203
  • BIHAR259,766
  • GUJARAT258,687
  • MADHYA PRADESH253,114
  • ASSAM216,976
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB171,930
  • JAMMU & KASHMIR123,946
  • UTTARAKHAND95,640
  • HIMACHAL PRADESH57,210
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM6,068
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,993
  • MIZORAM4,351
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,377
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
if you want to be safe in your home, then follow these vastu tips pragnt

घर में अगर चाहते हैं शुख- शांति तो अपनाए ये वास्तु टिप्स

  • Updated on 1/14/2021

नई दिल्ली/ ज्योतिषाचार्य रेखा कल्पदेव। यदि घर में आपको सुख की नींद नहीं आती, भोजन आपकी सेहत को नहीं लगता और परिवार में सबका स्नेह आपको नहीं मिल पा रहा है तो आपको अपने घर की वास्तु जांच किसी योग्य, अनुभवी वास्तुशास्त्री से करानी चाहिए। हम जानते हैं कि घर निर्माण का कार्य कोई भी व्यक्ति जीवन में बार-बार नहीं कर सकता इसलिए घर बनवाते समय वास्तु के निम्न सरल नियमों का ध्यान रखना, घर की सुख-शांति को बनाए रखने में सहयोग करेगा:

किन वजहों से आपकी शादी में आ सकती है देरी, बाधाओं को दूर करने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

  • घर बनाने के लिए भूमि या तो चौकोर होनी चाहिए या आयताकार होनी चाहिए। घर की भूमि का गोल, तिकोना, तिरछी, कोनों से कटी हुई या निकला हुआ कोना नहीं होना चाहिए।
  • यहां एक अपवाद है कि यदि घर का उत्तर-पूर्व का कोना बाहर की ओर को बड़ा या निकला हुआ हो तो वह हानिकारक नहीं माना जाता।
  • उत्तर-पूर्व कोने की ओर भूमि का ढलान होना अनुकूल और लाभदायक माना जाता है।
  • इसके विपरीत घर के दक्षिण-पश्चिम भाग में किसी तरह की ढलान नहीं होनी चाहिए।
  • घर के ईशान कोण में पूजा घर होना अति शुभ माना जाता है।
  • बच्चों की शिक्षा अच्छी चलना भी घर की सुख-शांति को बढ़ाता है, पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख कर पढ़ाई करनी चाहिए।
  • घर की उत्तर दिशा में धन रखने की व्यवस्था करना धन और सुख दोनों को बेहतर बनाता है।
  • उत्तर दिशा में बहते हुए जल की व्यवस्था रखा शुभता देता है।
  • दक्षिण दिशा में पानी या बोरिंग बहुत बड़ा वास्तु दोष का कारण बनता है।
  • घर के कमरे आयताकार या वर्गाकार होने चाहिएं, तिरछा होना उचित नहीं माना जाता।    

Vastu Dosh Remedies: सोते वक्त न करें ये गलतियां अन्‍यथा कभी नहीं होगी आपकी शादी 

कष्ट या रोग से मुक्त होने के स्वप्न
-जो व्यक्ति स्वप्न में विषपान करके मृत्यु को प्राप्त होते हुए अपने-आपको देखता है, वह रोग या अन्य कष्ट से मुक्त होकर सुख प्राप्त करता है।
-जो व्यक्ति स्वप्न में कुमकुम लगाकर अपने दाह-संस्कार को देखता है, वह कष्ट से मुक्त हो जाता है।
-जो व्यक्ति स्वप्न में देवताओं को, साधुओं को, माता को अथवा पिता को श्रद्धा-भक्ति सहित देखता व सम्मान करता है उसके रोग नष्ट हो जाते हैं। इसके विपरीत वह उनको अपमानित करता है तो वह रोगी हो जाता है।

कार्यों में हमेशा सफलता पाने के लिए भूलकर भी न करें ये गलतियां

सम्मान व सुखप्रद स्वप्न
-जो व्यक्ति स्वप्र में ठंडे जल से स्नान करता है अथवा ठंडे जल में क्रीड़ा करता है, उसे जीवन सुख और उन्नति के अवसर मिलते रहते हैं, तरक्की होती है। 
-काला अगर, कपूर, कस्तूरी, चंदन, मेघ किसी स्वप्र में दिखते हैं अथवा जो इनका मर्दन करता है उसे समाज में सम्मान और सुख प्राप्त होते हैं।
-मित्रों, हितैषी बंधुओं, सजी-संवरी स्त्रियों और कमल के पुष्पों का स्वप्र में दर्शन शुभ फल का सूचक होता है।
-जो व्यक्ति स्वप्र में गाय दुहने के बर्तन में झाग वाले दूध को पीता है उसे जीवन में सुखद अवसर मिलते हैं।
-केला, अनार, संतरा, मातुलुंग को जो स्वप्र में देखता या खाता है , उसके मनोरथ सफल होते हैं।
-यदि ऊपर लिखित वृक्ष, पुष्प अथवा फल स्वप्र में दिखाई देते हैं तो व्यक्ति का अमंगल नहीं होता।
-स्वप्र में यदि कोई व्यक्ति अपने-आपको अच्छे वस्त्र पहने व्यक्तियों के द्वारा पूजित होते देखता है तो उसे सम्मान व शुभ फल प्राप्त होता है।

comments

.
.
.
.
.