Sunday, Nov 28, 2021
-->
iit delhi alumnus dr. mohit aaron donates usd 1 million to the institute

IIT Delhi एलुमनी डॉ. मोहित एरोन ने संस्थान को 1 मिलियन यूएस डॉलर की सहायता दी

  • Updated on 10/18/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) दिल्ली से 1995 में कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (सीएसई) में बीटेक करने वाले डॉ. मोहित एरोन ने संस्थान के कम्प्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग विभाग को एक मिलियन यूएस डॉलर (तकरीबन 7 करोड़ 43 लाख रुपए) दान किए हैं। डॉ. मोहित द्वारा दी गई इस राशि का उपयोग आईआईटी दिल्ली में सीएसई के क्षेत्र में विश्वस्तरीय विभाग बनाने में किया जाएगा।

सोशल मीडिया पर कई दिनों से वायरल टर्म-1 परीक्षा की डेटशीट है फर्जी : सीबीेएसई

दो यूनिकॉर्न कंपनियों के मालिक है डॉ. मोहित एरोन 
इस वित्तीय मदद को संंस्थान के फैकल्टी की अनुसंधान गतिविधियों में मदद करने और विभाग के स्नातक, परास्नातक और पीएचडी छात्रों के देश विदेश में कार्यशालाएं, कांफ्रेंस और प्रतियोगिताओं में भाग लेने में इस्तेमाल किया जाएगा। डॉ. मोहित एरोन को फादर ऑफ हाइपर कंवज्र्ड इंफ्रास्ट्रक्चर कहा जाता है। मोहित एक उद्योगपति हैं उन्होंने 2009 में न्यूटेनिक्स और 2013 में कोहेसिटी की स्थापना की। उनकी दोनों कंपनियां यूनिकॉर्न कंपनियां हैं। 2019 में आईआईटी दिल्ली ने डॉ. मोहित एरोन को विशिष्ट पूर्व छात्र के सम्मान से नवाजा था।

यूनानी भाषा पर जेएनयू 22 से 28 अक्तूबर तक आयोजित करेगा कार्यशाला

2030 तक दुनिया के सर्वश्रेष्ठ 30 संस्थानों में शुमार होगा आईआईटी दिल्ली का सीएस विभाग
संस्थान के कम्प्यूटर साइंस विभाग प्रमुख प्रो. प्रेम कालरा ने कहा कि कम्प्यूटर साइंस विभाग में पिछले दो वर्षों में कई नए सदस्य जुड़े हैं। डॉ. मोहित द्वारा दिया गया तोहफा हमें 2025 तक दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कम्प्यूटर साइंस विभाग बनने के लक्ष्य में मदद करेगा। इसे हम 2030 तक दुनिया के 30 सर्वश्रेष्ठ कम्प्यूटर साइंस विभाग बनाने पर काम कर रहे हैं। संस्थान के निदेशक प्रो. वी राम गोपाल राव ने कहा कि संस्थान की प्रतिस्पर्धात्मक क्षमता बढ़ाने के लिए मोहित जैसे पूर्व छात्रों का बड़ा योगदान है। संस्थान ने हाल ही में स्कूल ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस स्थापित किया है। जोकि कम्प्यूटर साइंस, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, डेटा साइंस और संबंधित क्षेत्रों में अनुसंधान का प्रमुख माध्यम बनेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.