Sunday, Dec 04, 2022
-->
iit-delhi-sensors-will-reveal-the-real-picture-of-air-quality

आईआईटी दिल्ली सेंसर्स सामने लाएंगे वायु गुणवत्ता की असल तस्वीर

  • Updated on 1/21/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजधानी में सर्दियां आते ही वायु गुणवत्ता अति गंभीर श्रेणी में चली जाती है। लेकिन हमें दिल्ली के हर स्थान का रेगुलर वायु गुणवत्ता डेटा नहीं मिल पाता। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली एक प्रोजेक्ट के जरिए लोगों के घरों में लगे वाई फाई सिस्टम से सेंसर्स को जोडक़र रियल टाइम वायु गुणवत्ता डेटा का कलेक्शन करेगा। ये सेंसर्स दिल्ली की वायु गुणवत्ता की असल तस्वीर हमारे सामने लाएंगे।

नर्सरी दाखिला : ओपन कैटेगरी में आवेदन प्रक्रिया हुई पूरी

कुछ लोगों के घरों में वाई-फाई से जोड़े जाएंगे सेंसर्स
इतना ही नहीं इन सेंसर्स द्वारा कलेक्ट किया गया डेटा भी हर एक के लिए उपलब्ध होगा। आईआईटी दिल्ली में वायुमंडलीय विज्ञान केंद्र के प्रोफेसर साग्निक डे नासा सिटीजन साइंस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। उन्होंने इस प्रोजेक्ट के बारें कहा कि आईआईटी दिल्ली में इस प्रोजेक्ट के तहत 30 सेंसर्स को स्टॉल किया गया था। जिससे हमें अलग-अलग डेटा मिला है। जो सेंसर सडक़ किनारे लगे हैं उनका वायु गुणवत्ता डेटा अलग है और जो सेंसर कैंपस में लगे हैं उनका डेटा अलग है।

क्षेत्रीय स्तर की प्रतियोगिता में डीएसईयू का प्रतिनिधित्व करेंगे 8 छात्र

आने वाले समय में दिल्ली व एनसीआर के स्कूलों पर भी किए जाएंगे स्टॉल
इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए हम दिल्ली में कम लागत वाले हजारे सेंसर्स को लगाने की योजना पर काम कर रहे हैं। हालांकि दिल्ली के हर घर में सेंसर लगाकर वहां की वायु गुणवत्ता माप लेना एक कठिन काम है लेकि न हम कुछ घरों के वाई फाई से सेंसर्स को जोडक़र डेटा कलेक्ट करेंगे। इतना ही नहीं योजना के अगले चरण में दिल्ली के स्कूलों पर भी सेंसर्स को लगाया जाएगा। जिसके बाद हम एनसीआर के स्कूलों पर भी इस तरह के सेंसर्स लगाने पर विचार कर रहे हैं। ताकि वायु गुणवत्ता का असली मेजरमेंट हम कर सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.