IL&FS कर्ज संकट पर निदेशक मंडल के प्रमुख उदय कोटक ने हाथ खड़े किए

  • Updated on 12/4/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल र्सिवसेज (आईएलएंडएफएस) के निदेशक मंडल ने सोमवार को राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) को सूचित किया कि 91 हजार करोड़ रुपये के कर्ज एवं संकट का अकेले समूह स्तर पर समाधान होना मुश्किल है।

किसानों की फसल नुकसान का आकलन करेगा केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल

उदय कोटक की अगुवाई वाले नये निदेशक मंडल ने समूह स्तरीय समाधान के तौर पर मजबूत निवेशकों से उल्लेखनीय पूंजी लगाने की संभावनाएं तलाशे जाने पर जोर दिया है। निदेशक मंडल इसके लिये संपत्ति के स्तर पर समाधान पर गौर कर रहा है। 

IDBI बैंक में हिस्सेदारी के लिए LIC की खुली पेशकश में मोदी सरकार नहीं लेगी भाग

निदेशक मंडल ने एनसीएलटी को सौंपी अपनी दूसरी रिपोर्ट में कहा, ‘‘वित्तीय एवं लेन-देन सलाहकारों (एफटीए) के एक अध्ययन पर आधारित प्राथमिक आकलन से संकेत मिलते हैं कि अकेले समूह के स्तर पर समाधान के विकल्प का फलीभूत हो पाना कठिन है।’’

राहुल बोले- चौकीदार ने एक न्यायमूर्ति को 'कोर्ट-पुतली' बना लिया था

नये निदेशक मंडल ने यह भी कहा कि वह शीघ्र ही आईएलएंडएफएस एजुकेशन, आईएलएंडएफएस टेक्नोलॉजीज, ओएनजीसी त्रिपुरा पावर कंपनी और आईएलएंडएफएस पारादीप रिफाइनरी वाटर में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी।

येचुरी बोले- किसानों के नहीं, उद्योगपति का कर्ज माफ कर रही है मोदी सरकार

निदेशक मंडल पहले ही आईएलएंडएफएस सिक्योरिटीज र्सिवसेज और आईएसएसएल सेटलमेंट एंड ट्रांजैक्शन र्सिवसेज तथा कुछ नवीकरणीय ऊर्जा कंपनियों को बेच चुका है। 

बुलंदशहर हिंसा के लिए AAP ने CM योगी, CPIM ने BJP-RSS पर साधा निशाना

निदेशक मंडल ने खर्च में कटौती के लिये लोगों की छंटनी, अतिथिगृहों की समाप्ति, विभिन्न स्थानों पर कार्यालयों को बंद करना और मुंबई स्थित मुख्यालय को अन्य कंपनियों को किराये पर देने समेत कई कदम उठाये हैं। निदेशक मंडल का मानना है कि कटौती से सालाना करीब 100 करोड़ रुपये की बचत होगी।      
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.