अवैध शराब से हुई मौत, मुआवजे पर होगा विचार

  • Updated on 2/8/2019

देहरादून/ब्यूरो। मुख्यमंत्री त्रिवेंन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में मीडिया को बताया कि सुबह दिल्ली से लौटते समय एयरपोर्ट पर उन्हें इस घटना की जानकारी मिली। उस वक्त जहरीली शराब से हुई मौतों की पु्ष्टि नहीं हो पाई थी। देहरादून पहुंचते ही उन्होंने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह और डीजीपी अनिल रतूड़ी से बात की।

उन्होंने बताया कि इस घटना को लेकर जिम्मेदार अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि मौत अवैध शराब के सेवन से हुई है और अवैध शराब को मद्देनजर मुआवजे को लेकर पहले विचार किया जाएगा।

परीक्षा दिलाने के लिए 180 छात्रों को किया गया एयरलिफ्ट, पहुंचे जम्मू

अब तक की सबसे बड़ी दंडात्मक कार्रवाई: पंत
वित्त मंत्री प्रकाश पंत का कहना है कि रुड़की के बालूपुर और बिंदु गांव तथा मलभसवां में अवैध शराब पीने से 14 व्यक्तियों की मौत हुई है। यह बेहद दुखद घटना है। उन्होंने कहा है कि विभागीय लापरवाही पर कड़ी कार्यवाही करते हुए आबकारी विभाग के कुल 13 अधिकारियों/कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। 

यह निलम्बन कार्यवाही अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही है।  इसके साथ ही पूरे राज्य में अवैध शराब, शराब की तस्करी और कच्ची शराब के निर्माण के विरुद्ध विशेष अभियान चलाये जाने का निर्देश दिया गया है। हालांकि इतनी बड़ी घटना में जिला स्तर के किसी भी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने बड़ा सवाल खड़ा करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.