Tuesday, Dec 06, 2022
-->
immunity-against-covid-19-lasts-for-at-least-8-months-study-prsgnt

शोध में हुआ खुलासा- Corona Virus के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता कम से कम 8 महीने तक रहती है

  • Updated on 12/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वारयस (Coronavirus) संक्रमण के बाद स्वस्थ होने वाले लोगों में इस संक्रमण के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता संक्रमणमुक्त होने के कम से कम आठ महीने बाद तक रहती है। यह दावा एक नए अध्ययन में किया गया है। यह अध्ययन इस उम्मीद को बढ़ा देता है कि कोरोना वायरस के टीके लंबे समय तक प्रभावी रहेंगे।      

पहले कई अध्ययनों में यह दावा किया गया था कि कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी संक्रमण के शुरुआती कुछ महीने बाद ही समाप्त हो जाते हैं, जिसके बाद यह शंका उठने लगी थी कि लोगों में इसके खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता जल्द ही खत्म हो सकती है, लेकिन ‘साइंस इम्युनोलॉजी’ पत्रिका में प्रकाशित नए अनुसंधान ने इन अनिश्चिताओं को दूर कर दिया है।      

मुंबई: कोरोना का बढ़ता प्रकोप, पुलिस ने रात्रि कर्फ्यू लागू होते ही सतर्कता बढ़ाई

ऑस्ट्रेलिया की ‘मोनाश यूनिर्विसटी’ के वैज्ञानिकों समेत विशेषज्ञों का कहना है कि रोग प्रतिरोधी प्रणाली में विशेष ‘मेमोरी बी’ कोशिकाएं वायरस के संक्रमण को ‘‘याद रखती’’ हैं और यदि कोई व्यक्ति दूसरी बार वायरस के संपर्क में आता है, तो सुरक्षात्मक एंटीबॉडी के तेजी से पैदा होने से सुरक्षात्मक रोग प्रतिरोधी क्षमता काम करने लगती है।      

इस अध्ययन के लिए अनुसंधानकर्ताओं ने कोविड-19 के 25 मरीजों का दल चुना और संक्रमण के बाद चौथे दिने से लेकर 242वें दिन तक रक्त के 36 नमूने लिए। वैज्ञानिकों ने पाया कि वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी में संक्रमण के 20 दिन बाद कमी आनी शुरू हो गई।

जानें कोरोना का नए स्ट्रेन में कितनी कामगर है कोरोना वैक्सीन, सरकार ने कही ये बात

हालांकि, उन्होंने कहा कि सभी मरीजों में ‘मेमोरी बी कोशिकाएं’ थीं, जो वायरस के दो घटकों ‘स्पाइक प्रोटीन’ और ‘न्यूक्लियोकैप्सिड प्रोटीन’ में से एक घटक को पहचान लेती हैं। ‘स्पाइक प्रोटीन’ वायरस को कोशिकाओं में प्रवेश करने में मदद करता है।      

वैज्ञानिकों ने विश्लेषण के बाद पाया कि ‘मेमोरी बी’ कोशिकाएं संक्रमण के आठ महीने बाद तक व्यक्ति के शरीर में मौजूद रहती हैं। उनका मानना है कि यह परिणाम इस उम्मीद को बल देता है कि वायरस रोधी टीके का असर लंबे समय तक बना रहेगा।   

Corona Vaccine: अगले सप्ताह तक एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को मंजूरी दे सकती हैं सरकार    

मोनाश यूनिर्विसटी में ‘इम्युनोलॉजी एंड पैथोलॉजी डिपार्टमेंट’ के मेनो वाल जेल्म ने कहा, ‘‘ये परिणाम महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि ये दर्शाते हैं कि कोविड-19 से संक्रमित हुए मरीजों में बीमारी के खिलाफ रोग प्रतिरोधी क्षमता बनी रहती है।’’

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.