Thursday, Apr 09, 2020
Impact of social distancing infection slows down

Lockdown: सोशल डिस्टेंसिंग का दिखा असर, धीमा हुआ संक्रमण का विस्तार

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस (coronavirus) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 656 तक पहुंच गई। देश में अब तक 13 संक्रमितों की मौत हुई है। बीते 24 घंटे के दौरान 43 नए मामले सामने आएं। इस दौरान चार की मौत हुई है। प्रधानमंत्री के तालाबंदी (लॉकडाउन) घोषित करने के 36 घंटे बाद सोशल डिस्टेंसिंग का असर भी दिखना शुरू हो गया है। कोरोना के विस्तार की दर में फिलवक्त कमी का ट्रेंड देखने को मिला है। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय इस बारे में ज्यादा कुछ कहने से बच रहा है।

संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 13
कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग काफी अहम कदम के तौर पर दिख रहा है। कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ी जरूर है, लेकिन संक्रमण विस्तार दर में एक स्थिरता दिख रही है। इसलिए आम जन से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने और लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों का पूरा पालन करने की अपील की जा रही है। उन्होंने कहा कि लोग खुद की जिम्मेदारी समझें और सहयोग दें। उन्होंने बताया कि देशभर में फिलहाल 656 कोरोना संक्रमित हैं। वहीं इस महामारी से मरने वालों की संख्या 13 पहुंच चुकी है। लेकिन बीते 24 घंटे में केवल 43 नए मामले ही सामने आए हैं। इससे माना जा रहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग इसमें काफी कारगर है। उन्होंने यह भी साफ किया कि यह प्रारंभिक ट्रेंड है, इसलिए अभी बहुत कुछ इस बारे में नहीं कहा जा सकता।

25 प्राइवेट लैब को भी कोरोना टेस्टिंग की मंजूरी
उन्होंने बताया कि कोरोनो के इलाज के लिए देश के 17 राज्यों में समर्पित (डेडीकेटेड) अस्पताल बनाए जा रहे हैं। साथ ही 25 प्राइवेट लैब को भी कोरोना टेस्टिंग की मंजूरी दी गई है। इसके अलावा जमीनी स्तर तक लोगों को जागरूक करने और संक्रमण की रोकथाम के लिए विशेषज्ञों के जरिए नर्सेस, आशा कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी कार्यकताओं को प्रशिक्षित करने का काम शुरू किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय कैबिनेट सचिव ने वीरवार को भी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात की और कोरोना संक्रमण को रोकने की तैयारियों एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने सभी राज्यों से लोगों तक उनकी जरूरत की वस्तुओं का पहुंचना सुनिश्चित कराने को कहा। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं से भरे ट्रकों को राज्यों की सीमाओं पर रोका न जाए, उनका आवागमन सुगमता से होता रहे। दूध, किराना के सामान, मेडिकल उपकरण, दवाओं के साथ ही होम डिलेवरी करने वालों को किसी तरह की परेशानी न हो।

टेस्ट के दौरान  तेज हो जाएगें परीक्षण
वहीं गृह मंत्रालय की अधिकारी पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं और जरूरत के सामान पहुंचाने में सरकार की तरफ से हर संभव मदद दी जा रही है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस बारे में ताकीद किया गया है। उन्होंने बताया कि लगभग सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया है, जिस पर लोग सीधे फोन कर दिक्कतें बता सकते हैं और सरकार से मदद ले सकते हैं। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के डॉक्टर  रमन आर गंगाखेडकर ने सवालों के जवाब में कहा कि कोरोना के सामूहिक विस्तार (कम्यूनिटी ट्रांसमिशन) के लक्षण अभी नहीं दिखे हैं। जिस तरह के उदाहरण विभिन्न जगहों के दिए जा रहे हैं, वे इतने ठोस नहीं हैं कि उन्हें कम्यूनिटी ट्रांसमिशन माना जाए। उन्होंने बताया कि जिन 25 प्राइवेट लैब को टेस्ट की मंजूरी दी गई है, उनके करीब 20 हजार सैंपल कलेक्शन सेंटर हैं। ये लैब फिलवक्त तो टेस्ट किट खरीदने में लगे हैं। ये जब टेस्ट करना शुरू कर देंगे, तो परीक्षण की गति और तेज हो जाएगी।


अमिताभ बच्चन के ट्वीट को स्वास्थ्य मंत्रालय ने नकारा
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बालीवुड अभिनेता और केंद्र सरकार के स्वच्छता अभियान के ब्रांड अम्बेसडर अमिताभ बच्चन के उस ट्वीट को नकार दिया, जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस मक्खियों से भी फैलता है। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कोरोना संक्रमण से फैलने वाली महामारी है। उन्होंने कहा कि अमिताभ बच्चन का ट्वीट तो उन्होंने नहीं देखा है लेकिन यह कह सकते हैं कि अब तक इसके ऐसे कोई भी लक्षण नहीं मिले हैं, जिससे कहा जाए कि यह मक्खियों आदि से फैलता है। मालूम हो कि अमिताभ  ने दो दिन पहले एक ट्वीट कर कहा था कि कोरोना के वायरस मानव मल में कई दिनों तक जीवित रहते हैं और उन पर बैठने वाली मक्खियों के जरिए भी यह आपके घरों तक पहुंच सकता है। उनके ट्वीट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी रिट्वीट किया था।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

Corona Virus: भारत में जल्द बिगड़ेंगे कोरोना से हालात अगर ये बात नहीं मानी तो...

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

भारत में लॉकडाउन के बाद भी कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बढ़ा, पढ़े खास रिपोर्ट

लॉक डाऊन है तो फिक्र क्या, बैंक कराएंगे आपके पैसे की होम डिलीवरी

comments

.
.
.
.
.