imran-khan-reacts-on-social-media-jammu-kashmir-section-370

पाकिस्तान को नहीं मिला किसी देश का साथ, इमरान ने लगाई सोशल मीडिया पर मदद की गुहार

  • Updated on 8/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 ( Article 370) हटाए जाने से पाकिस्तान (Pakistan) बौखला सा गया है। वह भारत को नुकसान पहुचानें के लिए लगातार कुछ- कुछ करते नजर आ रही है। अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने अपनी इस बौखलाहट को सोशल मीडिया पर दिखा रहे है। उन्होनें  सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए लिखा कि भारत के खिलाफ क्या दुनिया के नेता कोई कदम उठाएंगे?

भारत से कारोबार बंद कर पाकिस्तान ने की सबसे बड़ी गलती, टूट जाएगी कमर!

बता दें पीएम इमरान खान जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 ( Article 370) हटाए जाने के बाद से ही  भारत  को लेकर अनाप-शनाप बयान दें रहे है। उन्होनें रविवार को एक बार कश्मीर मुद्दे को लेकर ट्वीट किया जिसमें उन्होनें दूसरे देशों से मदद करने की गुहार लगाई है। इमरान खान ने कहा, 'आरएसएस की निजी विचारधारा के कारण  कश्मीर के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है। भारत में मुसलमानों का दमन होगा और अंततः पाकिस्तान को निशाना बनाया जाएगा।

विदेश मंत्रालय ने दिया पाकिस्तान को करारा जवाब, कहीं ये बात

पाकिस्तानी PM बौखलाहट में उठा रहें कदम

बता दें कि  मोदी सरकार 2.0 (modi sarkar) ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 (Article 370) पर अहम फैसला लेते हुए इसे निरस्त करने का फैसला किया। इसके बाद से पाकिस्तान पीएम बौखलाहट में भारत के खिलाफ फैसला लेते नजर आ रहे है। कभी भारत (INDIA) के साथ व्यापारिक संबंधों (Business relation) को खत्म करता है, तो कभी ट्रेनों का संचालन बंद कर देता है। 

CAPF अधिकारियों ने अमित शाह को लिखा पत्र, कहीं ये बात

इससे पहले इमरान खान (Imran Khan) वे जम्मू-कश्मीर मामले को लेकर बीते दिन पहले पाकिस्तानी संसद में कहा था कि आरएसएस हिंदू राष्ट्र की स्थापना के लिए काम कर रहा है। इसके बाद उन्होनें जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) मसले को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से भी मदद की गुहार लगाई। 

भारत को मिला कई देशों का साथ

भारत को जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाने जाने के फैसले का दुनिया के कई देशों ने समर्थन किया। रूस ने अपना  समर्थन देते हुए कहा कि ट्वीट किया था और कहा  जम्मू और कश्मीर को दो भागों में विभाजित और केंद्र शासित प्रदेश बनाने का फैसला संविधान के अनुसार लिया है और मॉस्को को उम्मीद है कि जम्मू-कश्मीर राज्य पर सरकार के द्वारा लिए गए फैसले से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव में वृद्धि नहीं होने देंगे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.