Tuesday, Sep 25, 2018

इलाहाबाद में क्रेन पर लटकाई गई नेहरू की प्रतिमा, कांग्रेसियों में उबाल

  • Updated on 9/14/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की प्रतिमा हटाए जाने का मामला तूल पकड़ गया है। इलाहाबाद में नेहरू की प्रतिमा को उसके मूल स्थान से हटा दिया गया है। प्रतिमा के हटाते ही कांग्रेस पार्टी में उबाल आ गया है। कांग्रेस ने प्रतिमा हटाने का सख्त विरोध करते हुए कहा कि नेहरू जी का सरासर अपमान है।

कांग्रेस ने इस मामले में जहां योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है, वहीं इलाहाबाद जिला प्रशासन का तर्क है कि निर्माण कार्यों के चलते ऐसा किया गया है। बता दें कि इलाहाबाद में कुंभ की तैयारियां जोरों पर हैं। इसी के चलते इलाहाबाद के बालसन चौराहे स्थित जवाहर लाल नेहरू की मूर्ति शुक्रवार सुबह हटा दी गई।

माल्या के देश छोड़ने से 4 दिन पहले वकील ने दी थी SBI को ये सलाह

कांग्रेसियाें के हंगामे और विरोध के बाद प्रशासन ने स्पष्ट किया कि मूर्ति सौंदर्य निर्माण संबंधी कार्यों के लिए अस्थायी रूप से हटाई गई है, जिसे कार्य पूरा होते ही वहां दोबारा स्थापित कर दिया जाएगा। इसके पीछे किसी राजनीतिक मंशा से उन्होंने  साफ इनकार किया। 

"नेहरू जी की मूर्ति को पूरे सम्मान के साथ उसकी असली जगह से 30 मीटर दूर शिफ्ट किया गया। बाद में यह वापस अपनी जगह पर लगा दी जाएगी।" इलाहाबाद विकास प्राधिकरण ने इस पर बात करते हुए बताया। हालांकि कांग्रेस ने इसको भाजपा की सुनियाेजित साजिश करार देते हुए विरोध जताया, इस काम में समाजवादी पार्टी भी कांग्रेस के साथ थी।

जासूसी कांड में पूर्व वैज्ञानिक नंबी नारायण को SC से क्लीन चिट, ISRO को देना होगा मुआवजा

इस बारे में ट्विट करते हुए कांग्रेस उत्तर प्रदेश समिति के चीफ और अभिनेता राज बब्बर ने कहा, "PM के चुनाव क्षेत्र वाराणसी में स्वर्गीय राजीव गांधी की मूर्ति के शिलापट को तोड़ा गया। इलाहाबाद में पंडित नेहरु की मूर्ति को क्रेन से लटका कर उसे हटाया गया। इतिहास याद रखेगा भाजपाईयों का ये अहंकार। इन तस्वीरों को हम नहीं भूलेंगे - ये हमारी वेदना भी हैं और यही हमारी प्रेरणा भी।"

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.