Tuesday, Oct 04, 2022
-->
in-gyanvapi-shivling-or-fountain-videography-will-be-public-on-may-30

ज्ञानवापी में ‘शिवलिंग या फव्वारा! 30 मई को वीडियोग्राफी सार्वजनिक होगी

  • Updated on 5/28/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिला कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे वीडियो को सार्वजनिक करने का आदेश जारी कर दिया है। इसके साथ ही ज्ञानवापी मस्जिद में ‘शिवलिंग है या फिर फव्वारा, इसका सच देश की जनता के सामने 30 मई को आएगा।

इस दिन अदालत सर्वे के फोटोग्राफ भी जारी करेगी। वहीं, हिंदू पक्ष के अधिवक्ता सुभाष नंदन चतुर्वेदी ने कहा कि आज वीडियोग्राफी की सर्टीफाइड कॉपी मिलनी थी, लेकिन सूचना मिली कि टैक्निकल कमी के कारण सी.डी. नहीं बनी है। इसके साथ उन्होंने कहा है कि 30 मई को सभी अधिवक्ताओं को कोर्ट में सी.डी. मिलेगी।

इससे पहले ज्ञानवापी मस्जिद की देखरेख करने वाली अंजुमन इंतजामियां मस्जिद कमेटी के साथ हिंदू पक्षकारों ने वाराणसी जिला कोर्ट में एक प्रार्थना पत्र देते हुए मांग की थी कि सर्वे से संबंधित वीडियो और तस्वीरों को पब्लिक डोमेन में न लाया जाए। दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सिविल जज की जगह वाराणसी जिला कोर्ट ज्ञानवापी मामले की सुनवाई कर रही है।

इस बीच ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे मामले में आज मुस्लिम पक्ष के वकील मेराजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि हमने अनुरोध किया है कि आयोग की रिपोर्ट, तस्वीरें और वीडियो केवल संबंधित पक्षों के साथ सांझा किए जाएं और रिपोर्ट को सार्वजनिक न किया जाए। इस मामले की अगली सुनवाई 30 मई को होगी।

उधर, ज्ञानवापी मस्जिद में शुक्रवार को भारी सुरक्षा इंतजामों के बीच जुमे की नमाज शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने के लिए भारी तादाद में लोग एकत्र हुए थे।

इस बीच विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेन्द्र सिंह ने वजूखाने के पास मिले कथित शिवलिंग जिसे मुस्लिम पक्ष फव्वारा बता रहा है, की सुरक्षा पर चिंता जताते हुए वाराणसी स्थित चौक पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.