Wednesday, Jan 26, 2022
-->
in kedarnath heavy rain and snowfall caused january like cold in may prshnt

केदारनाथ में भी 'ताउते' का असर, भारी बारिश और बर्फबारी से मई में जनवरी जैसी ठंड

  • Updated on 5/20/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में ताउते तूफान ने कई राज्यों में जमकर कहर बरपाया है। बताया जा रहा है कि इस तूफान का असर उत्तराखंड में भी देखने को मिला है। यहां मौसम खराब होने के चलते मुख्यालय सहित अनेक स्थानों पर बारिश हुई। जबकि केदारनाथ, द्वितीय केदार मद्महेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ और चंद्रशिला सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बारिश के साथ बर्फ की फुहारें गिरती रहीं। खराब मौसम के कारण यहां ठंड जनवरी महिने की तरह देखी गई। 

इसके अलावा, जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग और निचले इलाकों में रूक- रूककर हल्की बारिश हुई। बुधवार को केदारनाथ धाम में हल्की बारिश होती रही और दोपहर होते ही कई बार बर्फ की फुहारें भी गिरीं। जबकि हिमालय पर्वत श्रृंखलाओं के साथ दुग्ध गंगा, चोराबाड़ी और वासुकीताल क्षेत्र में अच्छी बर्फबारी हुई। इसके अलावा मद्महेश्वर और तुंगनाथ के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी हुई है। मौसम के बिगड़े मिजाज से केदारपुरी में भी ठंड बढ़ गई है।

कोरोना: तीसरी लहर को लेकर वैज्ञानिक ने दी चेतावनी, कहा - अगर Vaccination तेज नहीं की तो...

बुधवार को बारिश 60 मिमी के रेकॉर्ड के पार रहा
तूफान ताउते का असर दिल्ली पर भी रहा, दिल्ली एनसीआर के आस- पास के इलाकों में बारिश हुई। बारिश के बाद से लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली है। दिल्ली और एनसीआर में दो दिनों से लगातार बारिश हुई। दिल्ली में मई महीने में एक दिन में अब तक की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. जब बुधवार को बारिश 60 मिमी के रेकॉर्ड को पार कर गई। दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान 119 एमएम बारिश हुई है। यह मई महीने के दौरान 24 घंटे में हुई सबसे अधिक बारिश है। साल 2008 में पूरे मई महीने में 165 एमएम बारिश हुई थी।

दिल्ली: तेज बारिश के बीच किसानों की ललकार- 'हमारी बात मान ले सरकार'

120 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से चली हवा
बता दें कि चक्रवात तौकते ने मुंबई,गोवा समेत कई राज्यों में काफी ज्यादा तबाही मचाई हैं मुंबई और उसके आस- पास के इलाकों में सोमवार को बहुत तेज हवाओं के साथ बारिश हुई जिससे जगह जगह पेड़ उखड़ गये एवं ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। बृहन्मुंबई महानगर निगम (बीएमसी) ने बताया कि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अगले कुछ घंटे के दौरान मूसलाधार वर्षा होने एवं 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवा चलने की चेतावनी दी है।

कोरोना वायरस: राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर मास्क को लेकर जागरूकता अभियान चलाएगी कांग्रेस

मुंबई में तूफान की तबाही
फिलहाल मुंबई और उसके आस- पास के इलाकों में खूब वर्षा हो रही है एवं तेज आंधी चल रही है। बीएमसी प्रवक्ता तानाजी काम्बले ने कहा, ‘आईएमडी ने अगले कुछ घंटे तक मुम्बई में भारी वर्षा जारी रहने की चेतावनी दी है।’ बीएमसी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तेज हवाओं के मद्देनजर बांद्रा-वर्ली सी-लिंक को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है और लोगों को वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करने की सलाह दी गयी है।

लेकिन जब ये तूफान गुजरात पहुंचा तो ये काफी विकराल रूप में था। जिसके कारण गुजरात भी इस तूफान की चपेट में आने के बाद सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस चक्रवात की तरफ से मची तबाही का सर्वे करने के लिए खुद लेने के लिए पीएम मोदी ने गुजरात के प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे किया।

comments

.
.
.
.
.