Tuesday, Mar 02, 2021
-->
In Nizamuddin 6830 persons were investigated in 1466 houses sohsnt

Coronavirus: निजामुद्दीन में 1466 घरों में 6830 व्यक्तियों की हुई जांच, सहयोग न करने पर होगी FIR

  • Updated on 4/6/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (SDMC) ने मरकज (Markaz) में हुई घटना सामने आने के बाद निजामुद्दीन (Nizamuddin) इलाके में कोरोना (corona) संदिग्धों का पता लगाने के लिए पिछले 2 दिन के अंदर 1466 में जाकर  6830 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग जांच की।

मौलाना साद को क्राइम ब्रांच ने जारी किया दूसरा नोटिस, पहले सवालों का नहीं दिया था जवाब

जांच में नहीं मिला कोरोना संदिग्ध
आगा खान फाउंडेशन, दिल्ली सरकार व दिल्ली पुलिस के सहयोग से चलाए गये  इस जांच अभियान में अच्छी बात यह रही कि एक भी कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज इस दौरान नहीं पाया गया। निगम के अनुसार इस इलाके के जांच कार्रवाई के दौरान संयुक्त टीम ने निजाम नगर में 361 घरों में गये। यहां 10 घरों के लोगों ने जानकारी देने से इंकार कर दिया।

जमातियों के ट्रेन सफर के कारण ऐसे फैला पूरे देश में कोरोना वायरस

पिछले कई दिनों से चल रहा है जांच अभियान
दिलदार नगर में 228 घरों की जांच की गई। यहां 9 लोगों ने जानकारी नहीं दी। खुसरू नगर में 279 घरो की जांच में 24 घर के लोगों ने जानकारी नहीं दी। इस तरह से अन्य कई इलाके जांच की गई। जांच के दौरान 203 घरों में ताला लगा मिला। बता दें कि मरकज घटना के बाद निगम इस छेत्र में पिछले कई दिनों से जांच अभियान चला रखा था।

कोरोना संक्रमण तीसरे स्टेज की ओर! AIIMS डायरेक्टर ने कम्यूनिटी प्रसार को लेकर चेताया

सहयोग न करने पर होगी एफआईआर दर्ज- महापौर
दक्षिणी दिल्ली की महापौर सुनीता कांगड़ा ने निर्देश दिया है कि निजामुद्दीन इलाके में चल रहे जांच स्क्रीनिंग व सैनिटाइजेशन में जो लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं और घरों को भी सैनिटाइज नहीं करवा रहे हैं उन लोगों के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाए। महापौर ने आदेश दिया है कि जो लोग बिल्कुल नहीं मानते हैं तो उनके खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई जाए।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.