Wednesday, Nov 20, 2019
in-singapore-the-benefits-of-investment-in-uttarakhand-counted-by-cm

'इनवेस्ट नार्थ' समिट: सिंगापुर में सीएम ने गिनाए उत्तराखंड में निवेश के फायदे

  • Updated on 9/4/2018

देहरादून/ब्यूरो। सात व आठ अक्टूबर को राजधानी देहरादून में प्रस्तावित 'इन्वेस्टर्स समिट 2018' की सफलता के लिए सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत सिंगापुर दौरे पर हैं। यहां भारतीय उच्चायोग की ओर से आयोजित इन्वेस्ट नार्थ समिट में उन्होंने हिस्सा लिया। समिट में शामिल पूंजीपतियों को उत्तराखंड में निवेश का न्योता दिया और समझाया कि देवभूमि में निवेश करना उनके लिये क्यों और कैसे फायदेमंद रहेगा।

मंगलवार को सिंगापुर में 'इन्वेस्ट नार्थ समिट 2018' के शुभारंभ सत्र को सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने संबोधित किया। उन्होंने 'उत्तराखंड राज्य में निवेश की संभावनाओं' पर प्रस्तुतिकरण दिया। इसके जरिये सीएम ने कार्यक्रम में मौजूद देशी और विदेशी निवेशकों को समझाने का प्रयास किया कि उत्तराखंड में निवेश क्यों करें। सीएम ने कहा कि उत्तराखंड विभिन्न क्षेत्रों में मजबूत संभावनाओं के साथ एक युवा राज्य है। 

चंपावत में ट्रिपल मर्डर से हड़कंप, मारे गए तीनों लोग एक ही परिवार के सदस्य

हमारी मध्यम, लघु व सूक्ष्म औद्योगिक नीति 2015, सिंगल विंडो क्लीयरेंस सिस्टम तथा भारी औद्योगिक तथा निवेश नीति 2015 उन कदमों में से है जो राज्य में औद्योगिक वातावरण को प्रोत्साहित करते हैं तथा निवेशकों के लिए फेसिलिटेटर की महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मुख्यमंत्री व प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्यों ने सम्मेलन के दौरान 'उत्तर भारत में निवेश वातावरण' पर सीआईआई की रिर्पोट का विमोचन भी किया। 

इस दौरान उत्तराखण्ड सरकार के प्रतिनिधिमंडल ने विभिन्न संस्थाओं के साथ बैठकें की और उत्तराखंड में विकास के अवसरों पर चर्चा की । इन संस्थाओं में सरबना जरगोन प्रा लि, द गोल्डन स्टेट केपिटल प्रा लि आदि प्रमुख हैं। प्रतिनिधिमंडल ने सिंगापुर के विदेश मंत्री विवियन बालाकृष्णन से भी भेंट की।

उत्तराखंड: हाईवे पर चलते-फिरते ब्रेकर-डिवाइडर, देखें वीडियो

निवेश का बड़ा प्लेटफार्म बना 'नार्थ समिट'
सिंगापुर में 'इन्वेस्ट नार्थ समिट 2018' ने उत्तर भारतीय राज्यों उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश में संभावित प्रोजेक्टस तथा निवेश की क्षेत्रवार संभावनाओं को बेहतरीन ढंग से प्रदर्शित किया। पर्याप्त प्राकृतिक संसाधनों, कुशल मानव संसाधन, सक्रिय निवेश व नीति निर्धारक शासन, बढ़ती आय व तेज गति से विकसित होती आधारभूत संरचना और मजबूत उपभोक्ता आधार के साथ उत्तर भारत निवेशकों के लिए महत्वपूर्ण है। 

यह क्षेत्र इलेक्ट्राॅनिक्स, फार्मासेटिक्यूल, वितीय सेवाओं, पर्यटन, स्वास्थ्य सेवाओं, शिक्षा, इन्फ्रास्ट्रक्चर, ऊर्जा व आॅटामोबाइल क्षेत्र में अच्छी निवेश अवसरों से भरपूर है। सिंगापुर में भारतीय उच्चायोग की ओर से अब तक छह नार्थ समिट आयोजित किये जा चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.