Sunday, Nov 28, 2021
-->
in the battle with corona who praised yogi government and akhilesh targeted pragnt

कोरोना से जंग में WHO ने योगी सरकार को सराहा तो अखिलेश ने साधा निशाना

  • Updated on 5/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कोरोना वायरस प्रबंधन के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से तारीफ मिलने का दावा करने वाली प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है।

ऑक्सीजन फ्लोमीटर की ब्लैक मार्केटिंग करने के आरोप में तीन गिरफ्तार, 36 फलोमीटर बरामद

WHO की तारीफ पर अखिलेश ने साधा निशाना
अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि सरकार अपनी 'नाकामी' छुपाने के लिए कोई भी नैतिक-अनैतिक रास्ता अपनाने नहीं हिचक रही है। पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यदि राज्य सरकार सभी को कोरोना वायरस का मुफ्त टीका नहीं लगाती है तो वर्ष 2022 में सपा की सरकार बनने पर सभी लोगों को निशुल्क टीका लगाया जाएगा।

Lockdown खोलने के फैसले पर फाउची ने उठाया सवाल, कहा- गंभीर संकट में फंस गया भारत

SP ने पूछा- कालाबाजारियों पर कब लगेगी लगाम?
अखिलेश ने एक बयान में कहा, 'आंकड़ों की हेराफेरी करके डब्ल्यूएचओ से योगी मॉडल को वाहवाही का तमगा लेने वाली भाजपा सरकार को गंगा में बह रही लाशों, श्मशान घाटों में धधकती चिताओं और अस्पतालों की चौखट पर तड़प-तड़पकर हो रही मौतों से कोई दर्द नहीं होता।' उन्होंने कहा, 'मुख्यमंत्री को अपनी नाकामी छुपाने के लिए कुछ भी नैतिक-अनैतिक रास्ता अपनाने में हिचक नहीं। अच्छा हो वे इधर-उधर की बात करने के बजाय बताएं कि गरीबों को कब तक वैक्सीन लग जाएगी? ऑक्सीजन, इंजेक्शन और दवाओं के जमाखोरों और कालाबाजारियों पर कब लगाम लगेगी?'

PM Kisan Alert :इंतजार खत्म! इस खास दिन किसानों के अकाउंट में आएंगे 2000 रुपए

अखिलेश यादव ने किया दावा
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार ने आनलाइन पंजीकरण पर ही टीकाकरण की सुविधा दी है। उन्होंने सवाल किया कि उत्तर प्रदेश के गरीब, ग्रामीण, मजदूर और गांव की आबादी को टीकाकरण का लाभ कैसे मिलेगा? सपा प्रमुख ने दावा कि सरकार आनलाइन के बहाने प्रदेश की बड़ी आबादी को सुरक्षाचक्र से वंचित रखना चाहती है।

कोरोना: HC की सरकार को फटकार, कहा- गांव में दिख रहे चुनाव के विनाशकारी परिणाम

WHO ने की योगी सरकार की तारीफ
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने दावा किया है डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 प्रबंधन के लिए सरकार द्वारा ग्रामीण स्तर पर चलाए गए अभियान की तारीफ की है। राज्य सरकार इसे अपनी बड़ी उपलब्धि के तौर पर पेश कर रही है। डब्लूएचओ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि राज्य सरकार ने किस तरह से 75 जिलों के 97941 गांवों में घर-घर संपर्क कर कोरोना की जांच करने के साथ आइसोलेशन और मेडिकल किट की सुविधा उपलब्ध कराई।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने योगी सरकार की कोविड मैनेजमेंट को धरातल पर परखने के लिए यूपी के ग्रामीण इलाकों में 10 हजार घरों का सर्वे किया और गांवों में कोविड मैनेजमेंट का हाल जाना। डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों ने फील्ड में काम कर रही दो हजार सरकारी टीमों के काम काज की गहन समीक्षा भी की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.